DA Image
5 अगस्त, 2020|7:04|IST

अगली स्टोरी

पानी निकासी की नहीं है कोई व्यवस्था

default image

भारी वर्षा के कारण प्रखंड के विभिन्न गांव से सड़क हुआ जलमग्न। विधायक एवं पूर्व प्रमुख के गांव गंगापुर में जलजमाव के कारण सड़क का नामोनिशान मिट गया है। पूर्व प्रमुख राकेश यादव के घर के सामने मुख्य सड़क पर दो फीट पानी जमा हुआ है। लोग बताते हैं कि यहाँ जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है और यहाँ सड़क पर से तीन माह के बाद ही निकलेगा पानी। लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है।

गिरने लगे हैं कच्चे घर:

लौकही। नदियों का पानी तो थमने लगा है, लेकिन कच्चे व फूस के घरों के गिरने का सिलसिला जारी है। लगातार हो रही बारिश से भूमि में अधिक नमी हो गई है। बाढ़ प्रभावित घरों के गिरने से परेशानी बढ़ने लगी है। नरहिया के सामाजिक कार्यकर्ता अजय चोपड़ा ने उचित राहत मुहैया कराने की मांग की है।

नए इलाकों में फैला पानी:

बासोपट्टी। प्रखंड के कई नए इलाकों में बाढ़ का पानी फैल गया है। बासोपट्टी प्रखंड से गुजरने वाले बछराजा नदी के किनारे बसे सिरोही, सिल्कोर घोरबंकी, मढिया, सठनी टोला, मेहतर पट्टी सहित अन्य गांव के फिर सैकड़ों एकड़ खेतों में लगी धान की फसल डूब गई है।

बाढ़ प्रभवित क्षेत्रों को किया निरीक्षण:

बेनीपट्टी। अनुमंडल एवं प्रखंड प्रशासन स्टेट हाईवे से उतरकर गांव तक पहुंचने का काम शुरू कर दिया है। लोगों की स्थिति एवं आवागमन अवरूद्ध देखकर वे भी मर्माहत हुए हैं। एसडीएम मुकेश रंजन एवं डीएसपी अरुण कुमार सिंह बररी पंचायत के बाणेश्वर स्थान सहित अन्य बाढ़ प्रभावित वार्डों का जायता लेते हुए कई आवश्यक निर्देश जारी किये हैं। विस्थापित परिवारों के बीच राहत चलाने का निर्देश सीओ एवं बीडीओ को दिया गया है। वहीं बुधवार को बीडीओ मनोज कुमार, सीओ प्रमोद कुमार सिंह को साथ लेकर जिप सदस्य खुशबू कुमारी लडुगामा भगवतीपुर के बीच कटाव स्थल का मुआयना कर नाव की व्यवस्था किये जाने की बात कही। जिप सदस्य ने प्रशासन को पूरे बररी पंचायत की दुर्दशा की जानकारी देते हुए तत्काल चार नाव उपलब्ध कराने को कहा।