DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वागत से अभिभूत हुए मुख्य सचिव

स्वागत से अभिभूत हुए मुख्य सचिव

गुजरात के मुख्य सचिव डॉ. जेएन सिंह ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि काली पूजा महोत्सव के माध्यम से मिथलांचल के लोगों ने गुजरात की संस्कृति को देखा और समझा। वहीं गुजरात के कलाकारों ने भी यहां आकर मिथलांचल के संस्कृति को जाना। यह कार्यक्रम दो संस्कृतियों का संगम स्थल बन गया है। सेवा क्षेत्र गुजरात होने के कारण गुजरात मेरा कर्मभूमि है तो मधुबनी जन्मभूमि है। जन्मभूमि और कर्मभूमि का नाता अटूट होता है। प्रधानमंत्री व गुजरात के मुख्यमंत्री की देखरेख में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के निर्माण में मुख्य भूमिका निभाई। यह मेरे लिए काफी प्रेरणादायी व गौरवमयी रहा। उन्होंने कहा कि जन्मभूमि के लिए कुछ करने की इच्छा से प्रेरित हुई इसके लिए डीएम शीर्षत कपिल अशोक के साथ मिलकर कई स्तर पर कार्ययोजना तैयार की गई है। डीएम के कुशल नेतृत्व में मधुबनी विकास के पथ पर अग्रसर है।

खासकर उन्होंने मधुबनी पेंटिंग को रोजगारोन्मुख बनाकर यहां के बाशिंदो को आर्थिक समृद्धि दी है।

सुंदरवन का होगा सर्वांगीण विकास : डीएम: डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने अपने संबोधन में कहा कि राजनगर आते ही मुझे कई पुरानी यादें ताजा हो गई है। क्योंकि राजनगर से मेरा पुराना नाता है। राजनगर सुंदरवन महाकाली पूजा महोत्सव सह सांस्कृतिक उत्सव को सूबे के कला-संस्कृति विभाग के कलेंडर में शामिल कर राजकीय महोत्सव का दर्जा दिया गया है।

आगे चलकर इसके स्वरूप को और अधिक बड़ा करने की योजना है। साथ ही इस पवित्र स्थान का सौंदर्यीकरण एवं चहारदीवारी से घेराबंदी के लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The Chief Secretary overwhelmed by the welcome