DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन पर बैठ खुले आकाश तले परीक्षा देने की विवशता

जमीन पर बैठ खुले आकाश तले परीक्षा देने की विवशता

बसैठ स्थित सीता मुरलीधार उच्च विद्यालय में खुले आकाश में जमीन पर बैठा कर परीक्षा ली जा रही है। भवन एवं डेस्क-बैंच के अभाव में बच्चों को बरामदे एवं खुले आकाश में बैठा कर कागजी खानापूरी करने का काम किया जा रहा है। दसवीं एवं नौवीं में लगभग 11 सौ बच्चे परीक्षा दे रहे हैं।

इस विद्यालय में भवन सहित अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर का घोर अभाव है। जिसके लिए पिछले एक महीने से एमएसयू के कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर आंदोलन चलाते आ रहे हैं। एक सप्ताह पूर्व किये गये सड़क जाम कार्यक्रम में डीईओ श्रीराम कुमार स्वयं जामकर्ताओं से वार्ता कर शीघ्र स्कूल की जर्जर स्थिति में सुधार करने का अश्वासन दिये है। एक सप्ताह गुजरने के बाद भी फिलहाल ऐसी कोई शुभ संकेत होने की बात से स्कूल के शिक्षक इंकार कर रहे हैं। प्रभारी हेडमास्टर ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में रहने के कारण स्कूल में बच्चों की संख्या अच्छी है। पर बैठाकर पढ़ाने योग्य एक भी कमरा दुरूस्त नहीं है। परीक्षा के समय और भी अधिक परेशानी बढ़ जाती है। उन्होने बताया कि बरसात का समय है। और ऐसे में बरामदे एवं खुले आकाश नीचे बैठा कर परीक्षा लेना मुश्किल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sitting on the ground forced to undergo open sky test