Sadhu and saint gathered in city after Holi - होली बाद शहर में जुटेंगे देश-विदेश के साधु व संत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होली बाद शहर में जुटेंगे देश-विदेश के साधु व संत

मिथिलांचल हरिनाम सत्संग सम्मेलन में होली बाद शहर में देश व विदेश के साधुसंत जुटेंगे। नौ दिवसीय 75 वां ये सम्मेलन ऐतिहासिक होगा। इसको लेकर निदेशक परिषद द्वारा तैयारी तेज कर दी गई है। संत सम्मेलन के अध्यक्ष रिटायर्ड आईएएस जीवछ झा व प्रबंध सचिव विनय कुमार वर्मा ने बताया कि 26 मार्च से 03 अप्रैल तक शहर के टाउन क्लब मैदान में होने वाले इस संत सम्मेलन में कई जगदगुरु व शंकराचार्य के भाग लेने की संभावना है। नेपाल के जनकपुरधाम से भी कई संत भाग लेंगे। चित्रकूट के कामदगिरी पीठाधीश्वर जगदगुरु रामानंदाचार्य स्वामी रामस्वरूपाचार्य जी महाराज, अयोध्या रामकोट के जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी राघवाचार्य जी महाराज, अयोध्या वासुदेवघाट के श्री श्री 108 जगदगुरु रामानंदाचार्य स्वामी राम दिनेशाचर्य, दशरथ महल रामकोट अयोध्या के श्री श्री 108 अनंत विभूषित देवेंद्र प्रसादाचार्य जी महाराज, जानकी घाट अयोध्या के रसिकपीठाधीश्वर श्री श्री 108 अनंत विभूषित जन्मेजय शरण जी महाराज, अयोध्या की सुश्री डॉ सुनीता शास्त्री, भोपाल की रामायण प्रवाचिका सुश्री प्रज्ञा भारती, चित्रकूट की रामायण प्रवाचिका सुश्री नीलम गायत्री, वैशाली के पंडित कुशेश्वर चौधरी, अयोध्या के रामायणी राममंगल दास, वाराणसी के कृष्णा नंद त्रिपाठी, भोपाल के रामाधार उपाध्याय व रामलखन दास वेदांती ने संत सम्मेलन में भाग लेने की अपनी सहमति दी है। संत सम्मेलन के उप सभापति सिमरिया के तनु तुलसी पीठाधीश्वर श्री विष्णुदेवाचार्य बाल व्यास हंै। सम्मेलन के प्रथम दिन रामार्चा पूजन होगा। प्रतिदिन सुबह 8 से 3 बजे तक रामायण नवाह परायण व शाम में 4 से 10.30 बजे तक संतों का प्रवचन होगा। गीता प्रेस गोरखपुर का स्टॉल भी लगेगा। 31 मार्च को सम्मेलन के संसदीय बोर्ड की विशेष बैठक होगी। जिसमें पांच वर्ष के लिए पदाधिकारियों का चुनाव होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sadhu and saint gathered in city after Holi