DA Image
25 नवंबर, 2020|4:26|IST

अगली स्टोरी

22 वर्षों से लंबित है अरेर को प्रखंड बनाने का प्रस्ताव

default image

22 वर्षों से अरेर को प्रखंड बनाने का प्रस्ताव सरकार के टेबल पर धूल चाट रही है। इसे कौन देखेगा। यह सवाल बेनीपट्टी विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों के लिए अनउत्तर बना है। अड़ेर को प्रखंड बनाने का प्रस्ताव पिछले 22 वर्षों से सरकारी टेबुलों पर धूल चाट रही है। विभागीय उदासीनता एवं लापरवाही से मांग की हो रही उपेक्षा प्रखंड निर्माण संघर्ष समिति मजबूती के साथ अपनी आवाज वोट मांगने आ रहे प्रत्याशियों के समक्ष रख रहे हैं।

वर्ष 1995 में बेनीपट्टी प्रखंड पंचायत समिति के सदस्यों ने सर्वसम्मत से अरेर को प्रखंड का दर्जा दिये जाने का प्रस्ताव पारित किया था। तत्कालीन विधायक ने 1998 में विधानसभा में सवाल उठाकर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया था। वर्ष 2000 में सदन में अरेर को प्रखंड बनाने का प्रस्ताव पारित किया। अड़ेर उच्च विद्यालय के परिसर में स्थानीय लोगों ने एक सर्वदलीय बैठक कर प्रखंड निर्माण संघर्ष समिति का गठन किया। इस बैनर के तहत अड़ेर में चक्का जाम आंदोलन की शुरूआत की गई थी।

धकजरी में ‘सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में ग्रामीण कार्य विभाग ने 2009 को डीएम मधुबनी को पत्र लिखकर प्रखंड निर्माण के लिए सीमांकन, पंचायतों का व्यौरा, जनसंख्या आदि के बारे में जानकारी मांगी। रघेपुरा, सोहांस, सिमरी व जफरा तथा बेनीपट्टी प्रखंड से ग्यारह पंचायत अड़ेर उत्तरी, अड़ेर दक्षिणी, नागदह बलाईन, कपसिया, मुरैठ, ढांगा, परजुआर, नवकरही, नगवास, परौल व परकौली को सीमांकन कर रिपोर्ट समर्पित कर दिया। फिर भी प्रखंड नहीं बन सका है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Proposal to make Arear a block pending for 22 years