DA Image
19 जनवरी, 2021|5:53|IST

अगली स्टोरी

मधुबनी में संक्रमितों की संख्या में आ रही कमी

default image

जिले में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने को लेकर स्वास्थ्य विभाग का प्रयास अब रंग लाने लगा है। कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या भी धीरे-धीरे कम होने लगी है। पहले जहां 100 से लेकर 200 मरीज प्रतिदिन कोरोना के मिलते थे, वहीं अब यह आंकड़ा कुछ दिनों से काफी घट गया है। जिले में अब तक 2.1 लाख से अधिक लोगों की जांच की गई है। वहीं जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों में ठीक होने की दर भी 91.5 प्रतिशत है। हालांकि इसके बावजूद लोगों को कोरोना को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि खतरा अभी टला नहीं है। जिले में प्रतिदिन छह हजार से अधिक लोगों की कोरोना जांच हो रही है। इसी क्रम में मंगलवार को जिले में 8,269 लोगों की कोरोना जांच हुई, जिसमें 35 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। वही बुधवार को 6,944 लोगों की जांच की गई, जिसमें 22 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। गांव-गांव शिविर लगाकर एंटीजन किट से लोगों की कोरोना जांच हो रही है। वहीं सदर अस्पताल में एंटीजन किट के साथ-साथ ट्रू-नॉट मशीन से भी लोगों की कोरोना जांच हो रही है। अस्पताल के कोरोना के नोडल प्रभारी डॉ. आरके सिंह ने कहा इतनी संख्या में कोरोना मरीजों की जांच होने पर भी मरीजों की संख्या धीरे-धीरे कम होने लगी है। यह एक तरह से अच्छे संकेत है, लेकिन इसके बावजूद लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। घरों से निकलने वक्त मास्क जरूर लगाएं। शारीरिक दूरी का पालन करें और भीड़ से बचें, तभी सभी लोग मिलकर कोरोना को मात दे पाएंगे।

जांच के लिए लक्ष्य का निर्धारण:

सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने बताया जिले में कोरोना जांच का दायरा लगातार बढ़ाया जा रहा है। प्रत्येक पीएचसी के लिए जांच लक्ष्य निर्धारित कर दिए गए है।ं साथ ही पंचायतों में कैंप लगाकर कोरोना संक्रमण की जांच की जा रही है। इसके अलावा सभी रेफरल व अनुमंडल अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी कोरोना जांच की जा रही है। इसी का परिणाम है कि जिले में इतनी संख्या में लोगों की कोरोना जांच हो सकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Madhubani decrease in number of infected