DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मधुबनी › मधेपुर : अनंत बनाने की परंपरा निभा रहे दर्जनभर पटवा परिवार
मधुबनी

मधेपुर : अनंत बनाने की परंपरा निभा रहे दर्जनभर पटवा परिवार

हिन्दुस्तान टीम,मधुबनीPublished By: Newswrap
Fri, 17 Sep 2021 04:32 AM
मधेपुर : अनंत बनाने की परंपरा निभा रहे दर्जनभर पटवा परिवार

मधेपुर : अनंत बनाने की परंपरा निभा रहे दर्जनभर पटवा परिवार

मधेपुर, निज संवाददाता

मधेपुर में अनंत निर्माण कुटीर उद्योग के रूप में प्रसिद्ध है। मधेपुर बाजार में पटवा जाति के दर्जनभर परिवार के करीब चार दर्जन लोग अनंत बनाते हैं। आस्था पर्व अनंत चतुर्दशी के नजदीक आते ही अनंत व फनंत बनाने में पटवा जाति

के लोग तल्लीन हैं। मधेपुर बाजार में अनंत—फनंत के एक—डेढ़ दर्जन दुकानें खुल गई है। इन दुकानों पर अनंत एवं फनंत की बिक्त्री व निर्माण परवान पर है। भगवान नारायण के ही चतुर्भुज रूप में अनंत की पूजा की जाती है। यह आस्था पर्व 19 सितंबर को है। इस पर्व के संबंध में संस्कृत साहित्य के विद्वान डॉ रामसेवक झा एवं पंडित रमण जी झा कहते हैं कि भाद्रमास शुक्ल चतुर्दशी को भगवान अनंत की पूजा प्रति वर्ष की जाती है। इसमें भगवान विष्णु सहित अनंत सूत्र का षोडशोपचार पूजन किया जाताा है। अनंत सूत्र बांधने से मानव जीवन में सुख—शांति, अमन—चैन व धन—धान्य में वृद्धि होती है। जीवन में आनेवाली बाधाओं से यह सूत्र रक्षा करती है।

दर्जनभर परिवार के लोग जुड़े हैं इस कुटीर उद्योग से : मधेपुर में अनंत निर्माण में पटवा जाति के दर्जनभर परिवार के चार दर्जन लोग पुश्तैनी पेशा के तहत लगे हुये हैं। दशकों से मधेपुर में अनंत का निर्माण किया जाता है। ये लोग अनंत—फनंत बना इसे बाहर सप्लाई करते हैं। अनंत की बिक्त्री मधेपुर एवं लखनौर प्रखंड क्षेत्र के अलावे झंझारपुर, मधुबनी, दरभंगा, जयनगर, अंधराठाढ़ी, बेनीपुर, सकरी, सुपौल में भी यहां के व्यवसायी करते हैं।

संबंधित खबरें