DA Image
28 नवंबर, 2020|5:06|IST

अगली स्टोरी

लक्ष्य से काफी पीछे है सबके लिए आवास योजना

default image

जयनगर शहरी क्षेत्र में आवास योजना की स्थिति अच्छी नहीं है। अद्यतन स्वीकृत किये गये1258 लाभुकों के लिये 25 करोड़ से अधिक की राशि चाहिए। नगर आवास व विकास विभाग ने अब तक नगर पंचायत जयनगर को कुल सात करोड़ इक्कीस लाख रूपये इस मद में उपलब्ध कराया है।

हालत यह है कि पहली सूची में शामिल 277 लाभुक परिवारों के बीच ही निर्माणाधीन आवासीय यूनिटों को को पूरा करने को राशि उपलब्ध कराने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। दूसरी सूची के 317 में कुछ लाभुक परिवारों को भी प्रथम किश्त की राशि दे दी गयी है। लिहाजा आधे अधूरे आवास बना कर लाभुक परिवार किश्त की राशि को ले नप कार्यालय का चक्कर काटते रहते हैं। जबकि तीसरी सूची के 681 चयनित लाभुक परिवारों की अभी फाइल भी नहीं खुली है। वर्ष 2022 तक सभी गरीब परिवारों को पक्का मकान मुहैया कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभी वर्ष 2017 -18 के कई यूनिट भी पूरे नहीं हो सके हैं। गंदी बस्तियों में कई लाभुक परिवारों के निर्माणाधीन आवास वर्षों से अधूरे पड़े हैं। निर्माणाधीन घरों में परिजनों के साथ धूप व बरसात में पॉलिथिन टांग कर रह रहे लोग सरकार, प्रशासन व जन प्रतिनिधियों की घोर लापरवाही को कोस रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Housing scheme is far behind the target