DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुणवत्तापूर्ण भोजन बनाने की दी सीख

प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी भवन पर मंगलवार को विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों एवं प्रधान शिक्षकों का क्षमता संवर्द्घन प्रशिक्षण संपन्न हुआ। आज विभिन्न विद्यालयों में कार्यरत करीब सौ रसोइयों को प्रशिक्षण दिया गया।

पंचायतवार दस दिनों तक प्रधान शिक्षक व रसोइयों को मध्याह्न भोजन योजना के तहत क्षमतावर्द्घन प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण सह कार्यशाला में प्रत्येक दिन अलग-अलग विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों को प्रशिक्षित किया गया। बतौर प्रशिक्षक प्रखंड मिड-डे-मील प्रभारी पुरुषोत्तम कुमार ने रसोइयों को प्रावधान एवं दिशा-निर्देश के तहत गुणवत्तापूर्ण भोजन बनाने के विभिन्न तौर-तरीकों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। एमडीएम प्रभारी ने पकाये गये भोजन को ढ़क कर रखने, बरतन साफ रखने तथा तेल-मसाले का समुचित प्रयोग करने के संबंध में जानकारी दी। इस क्षमता संवर्द्घन प्रशिक्षण में भोजन की साफ-सफाई, रसोई घर में प्रवेश करने से पहले एवं प्रवेश करने के बाद, खाना बनाने एवं बच्चों को भोजन खिलाने के दौरान बरती जाने वाली सावधानी की जानकारी भी प्रोजेक्टर के माध्यम से दी गई।

एमडीएम प्रभारी पुरुषोत्तम कुमार ने कहा कि इस महत्वाकांक्षी योजना का मुख्य उद्येश्य छात्रों को कुपोषण मुक्त रखना है। मौके पर बीआरपी प्रदीप कुमार निराला, पुरुषोत्तम कुमार, अजय कुमार मंडल, प्रभात आनंद, शोभाकांत कामती सहित अन्य लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Given knowledge of making quality food