DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतिभा के धनी हैं नारायण सुर्खियों में रहती है पेंटिंग

प्रतिभा के धनी हैं नारायण सुर्खियों में रहती है पेंटिंग

चित्रकार नारायण राम प्रतिभा के धनी है। हमेशा कुछ नया करने की सोचतें रहते है। वर्ष 2019 को उन्होंने बस कुछ नये अंदाज में लिख डाला है। उन्होंने आरंभ के दो अंक को एक साधु के चित्र के साथ प्रदर्शित किया है। इसके माध्यम से वे डूबते हुए सूर्य देव को नमन कर रहे है। इसी तरह शून्य को उगते सूर्य के रूप में एक साधु के चादर में लपेटे दिखाया है, ये दृश्य एक को भी प्रदर्शित कर रही है। सबसे अंतिम अंक नौ को उन्होंने गणपति के चेहरे का रूप दिया है।

इस तरह अपने चित्र के माध्यम से अस्ताचल गामी व उदयमान सूर्य के नमन के साथ नये वर्ष को लिखा है। वस्तुत: इनकी जितनी तारिफ की जाय वो कम है। बता दें कि वह पिछले 18 सालों से हर साल के अंक को नये अंदाज में लिखते आ रहे हैं। वैसे वे मटर, चावल, गेहूं,साइकिल का बल्व, तोरी के दाने आदि पर भी भारत का मानचित्र, संसद भवन,राष्ट्र के कई महापुरुषों का चित्र बनाकर प्रदर्शित कर चुका है। सीमा क्षेत्र के अलावे नेपाल में भी इनकी पेंटिंग को लोग पसंद कर रहे है। सीएम ने भी उन्हें पुरस्कृत किया था। चित्रकार नारायण राम एक सामान्य परिवार से है। उनका घर लौकही प्रखंड के धोबियाही गांव में हंै। वे इसी पेंटिंग के सहारे अपने परिवार का भरण पोषण करते है।

समय- समय पर वे मिट्टी व सिमेंट के प्रतिमाओं का निर्माण भी करते है। इतना हीं नहीं किसी भी व्यक्ति का तैल चित्र वे बहुत हीं सहज तरीकों से बना डालते है। लेकिन अब तक उन्हें राज्य सरकार से कोई विशेष प्रोत्साहन नहीं मिल सका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Famous painiting of Narayana habitant of lokkhai