Ereggularities in food Grain distribution - लगभग 29 किलो चावल और साढ़े 19 किलो गेहूं की हेराफेरी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लगभग 29 किलो चावल और साढ़े 19 किलो गेहूं की हेराफेरी

सरकारी केस के बाद मामले को रफा-दफा करने की कोशिशों में कमी होती नहीं दिख रही है। नया मामला दक्षिणी पंचायत देवधा के डीलर कामेश्वर यादव के यहां का है। इसमें भी अनाज की कमी के बाद पकड़े जाने पर एफआईआर दर्ज कराई गई। जिसे गलत कागजात देकर जांच को गुमराह करने की कोशिशें हुई है। मिली जानकारी के मुताबिक डीलर कामेश्वर यादव ने 11 जून 2017 को खाद्यान्न का उठाव किया गया। जब 13 जून को जयनगर एसडीएम राघवेंद्र सिंह के आदेश पर बीडीओ, प्रभारी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी और थानाध्यक्ष ने संयुक्त रूप से जांच की। जांच में 19.5 क्विंटल गेहूं और 29.25 क्विंटल चावल कम मिला। जबकि पता करने पर स्थानीय लोगों ने बताया कि अभी खाद्यान्न को बांटा भी नहीं गया है। जांच में अप्रैल 2017 के उठाव और बचे हुए अनाज को मिलाकर लिस्ट बनाया गया। जांच करनेवाले अधिकारी इंद्र कुमार मंडल जांच के बाद 13 जून को हीं देवधा थाना में मामला दर्ज कराया। मामला दर्ज होने के बाद डीलर कामेश्वर यादव के लड़के सोरज कुमार ने पुलिस को आवेदन दिया कि उनके पिता को गलत फंसाया जा रहा है। उन्होंने पुलिस को इस बाबत कुछ कागजात भी दिए। कि इस मामले में कोई दम नहीं है। चूंकि चावल और गेहूं को पांच जगहों पर रखा गया था इसलिए जांच पूरी नहीं हो सकी। वहीं एसपी दीपक बरनवाल ने जब इस मामले में जांच करनेवाले अधिकारी इंद्र कुमार मंडल से पूछा तो उन्होंने कहा कि नहीं जब डीलर के यहां जांच की जा रही थी तब चावल और गेहूं की मात्रा कम थी। और डीलर के लड़के सरोज कुमार पर आरोप भी लगाया कि जांच के दौरान उन्होंने व्यवधान डालने की कोशिश की। एसपी ने कहा कि पुलिस ने इस मामले को सत्य पाया। वहीं उन्होंने सरोज की भूमिका के जांच के आदेश दिए हैं। कि अपने पिता तो सही ठहराते हुए उन्होंने जो कागजत दिए हैं वो कितना सत्य है। वो कागजात कैसे हैं। और कहां से लाए गए हैं। इसकी भी जांच होगी। क्या पुलिस को भरमाने की कोशिश की गई है?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ereggularities in food Grain distribution