DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मधुबनी › एनीमिया शारीरिक व मानसिक विकास में बड़ा बाधक
मधुबनी

एनीमिया शारीरिक व मानसिक विकास में बड़ा बाधक

हिन्दुस्तान टीम,मधुबनीPublished By: Newswrap
Thu, 30 Jan 2020 12:37 AM
एनीमिया शारीरिक व मानसिक विकास में बड़ा बाधक

सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च की ओर से सदर अस्पताल सभाकक्ष में बुधवार को स्वास्थ्य कार्यक्रमों पर मीडिया संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। सिविल सर्जन डॉ. किशोर चंद्र चौधरी ने विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रम को लोगों तक पहुंचाने के लिए मीडिया की भूमिका को अहम बताया। सीएस ने बताया आमजन तक प्रचार-प्रसार के लिए मीडिया महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आम लोगों तक स्वास्थ्य विभाग की ओर से चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी मीडिया के माध्यम से पहुंचती है। उन्होंने जिले के स्वास्थ्य संस्थानों में संचालित परिवार नियोजन, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी दी। आरबीएसके के तहत सदर अस्पताल में आए विभिन्न रोगों से ग्रसित नवजातों को प्राथमिक स्तर पर चिकित्सा की जाती है। गंभीर स्थिति होने पर उसको बेहतर चिकित्सा के लिए एम्स एवं आईजीएमएस भेज दिया जाता है। सीएस ने एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम की बारे में बताते हुए कहा एनीमिया से पीड़ित बच्चे को शुरुआती दौर में कोई समस्या नहीं होती। लेकिन बाद में उनके मानसिक एवं शारीरिक विकास में बाधा उत्पन्न होती है। वहीं सीएस ने परिवार नियोजन के विभिन्न साधनों को लेकर चलाए जा रहे परिवार विकास मिशन कार्यक्रम के बारे में बताया विभिन्न अस्पतालों में आए गर्भवती महिलाओं व अन्य महिलाओं को जनसंख्या स्थिरीकरण को लेकर परिवार नियोजन के साधनों के बारे में काउंसिलिंग की जाती है। साथ ही रोजाना इलाज के लिए आए दंपतियों को छोटे परिवार की महत्ता के बारे में बताया जाता है। संचालन करते हुए पटना से आये सीएफएआर के असिस्टेंट स्टेट प्रोग्राम मैनेजर रंजीत कुमार ने बताया लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने की आवश्यकता है। सरकार द्वारा संचालित विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रमों की जानकारी मीडिया के माध्यम से आम लोगों तक पहुंचती है। आरबीएसके कोऑर्डिनेटर कमलेश कुमार शर्मा ने बताया आरबीएसके के तहत स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों की चिकित्सकीय जांच की जाती है। इस अवसर पर सीडीओ डॉ. आरके सिंह, डीपीएम दयाशंकर निधि, डीसीएम नवीन दास, केयर इंडिया के पीयूष बंसल, जपायगो के जिला समन्वयक, अस्पताल प्रबंधक अब्दुल मजीद मौजूद थे।

संबंधित खबरें