DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीजल अनुदान मद में अब तक 70 हजार आवेदन

सूबे में नालंदा के बाद मधुबनी के किसानों ने रबी में डीजल अनुदान के लिए सबसे अधिक आवेदन किए हैं। अबतक करीब 70 हजार आवेदन आ चुके हैं। जबकि 76 हजार से अधिक आवेदन नालंदा जिले के किसानों ने किए हैं। डीएओ सुधीर कुमार ने बताया कि गेहूं की पूर्व स्वीकृत 3 सिंचाई से बढ़ाकर अब 4 सिंचाई तक डीजल अनुदान मिलना है।

मक्का के लिए 2 सिंचाई से बढ़ाकर 3 सिंचाई करने के लिए अनुदान मिलेगा। डीएओ ने कहा कि इस वर्ष खरीफ फसलों के एक एकड़ क्षेत्र में डीजल पम्पसेट से एक सिंचाई के लिए 10 लीटर डीजल खपत के प्रति लीटर की दर से 500 रु. प्रति एकड़ प्रति सिंचाई डीजल अनुदान देय है। रबी मौसम में किसानों को एक लीटर डीजल के क्रय करने पर 50 रुपये की दर से प्रति एकड़ 500 रुपये डीजल अनुदान अनुमान्य है।

डीएओ ने बताया कि जिले में 3 लाख 32 हजार 320 से अधिक किसानों ने रजिस्ट्रेशन करा लिया है। इसमें से शुक्रवार तक 69619 किसानों ने रबी में डीजल अनुदान के लिए आवेदन कर दिया है। इसमें से करीब 28906 किसानों के आवेदन को एसी स्तर से स्वीकृति दी जा चुकी है। जबकि 4289 आवेदनों को अस्वीकृत कर दिया गया है। जबकि प्राप्त आवेदनों में से करीब 36423 आवेदन एसी स्तर पर लंबित है। डीएओ ने बताया कि शुक्रवार तक उनके स्तर से करीब 11350 किसानों के आवेदनों की स्वीकृति दे दी गई है।

अबतक 509 आवेदनों विभिन्न कारणों से रद्द कर दिया गया है। जबकि करीब 17046 से आवेदन अभी लंबित है। इन आवेदनों को फारवर्ड करने का युद्ध स्तर पर कार्य चल रहा है। उन्होंने बताया कि लगातार किसानों के डीजल अनुदान के लिए आवेदन आ रहे हैं। जो किसान अबतक अपना डीजल अनुदान से संबंधित आवेदन नहीं किया है, वे एक साथ सभी पटवन का क्लेम कर सकते हैं। जिले में करीब 75 हजार हेक्टेयर में गेहूं की फसल लगी है।

ऐसे में सरकार की ओर से डीजल अनुदान देने की घोषणा के बाद से किसानों संजीदा होकर समय से गेहूं की पटवन कर रहे हैं। अधिक से अधिक किसान गेहूं पटवन कर डीजल की रसीद लगाकर अनुदान के लिए आवेदन कर रहे हैं। ऐसे में जिले में गेहूं की फसलें लहलहा रही है। इससे पहले भी खरीफ फसल के लिए डीजल अनुदान किसानों को दिया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:70 thousand applications so far in the diesel grant