DA Image
1 दिसंबर, 2020|8:15|IST

अगली स्टोरी

स्टैंड के बजायसड़क पर रहते हैं वाहन

स्टैंड के बजायसड़क पर रहते हैं वाहन

नगर परिषद क उदासीनता के कारण शहर में नया बस स्टैंड बनाने का शहर के लोगों को कोई लाभ नहीं मिला रहा है। शहर के एक किनार में नया बस स्टैंड होने के कारण बस चालक वहां बसों को खड़ा करने से परहेज कर रहे हैं। हालत यह है कि शहर के बीच में कलेक्ट्रट के पास बनाए गए पुराने बस स्टैंड के आसपास ही बसों को खड़ा किया जाता है। इस कारण शहर के प्रमुख चौक_ चौराहों पर जाम की समस्या भी खड़ी हो रही है।

मालूम हो कि तीन करोड़ से अधिक की लागत से वुडको द्वारा पश्चिमी बायपास स्थित भीरखी नवटोलिया में नया बस स्टैंड का निर्माण किया गया है। बसों के ठहराव के लिए दस टर्मिनल बनाए गए हैं। यात्रियों के लिए बैठने, शौचालय आदि की व्यवस्था भी की गयी है। निर्माण कार्य पूरा होने के बाद माह जुलाई से नए स्टैंड में ही बसों के ठहराव की व्यवस्था की गयी। पुराने स्टैंड में बसों को खड़ा करने पर रोक लगा दी गयी है। इसके बावजूद बस चालक अपनी मनमानी करने पर उतारू है।

नगर परिषद की ओर से बस चालकों को कई बार नए बस स्टैंड में ठहराव करने की हिदायत दी गयी। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गयी। लेकिन नगर परिषद के अधिकारियों की हिदायत का बस चालकों पर कोई असर होता नहीं दिख रहा है। नए स्टैंड में बसों का ठहराव नहीं करने वाले चालकों पर कार्रवाई करने के लिए मजिस्ट्रेट की भी तैनाती गयी। इसका असर सिर्फ इतना हुआ कि बस चालक अब पुराने बस स्टैंड में बसों को खड़ा नहीं किया जाता है। सहरसा, पूर्णिया, सुपौल, कटिहार, पूर्णिया आदि स्थानों से आवागमन करने वाली बसें पुराने बस स्टैंड के आस_ पास ही सड़क पर खड़ी की जाती हैं। ऐसे बस चालकों पर को नगर परिषद की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इससे आए दिन जाम की समस्या खड़ी हो रही है। लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

नगर परिषद के कार्यपालक अधिकारी प्रवीण कुमार ने बताया कि बस चालकों को नए बस स्टैंडमें ही बसों का ठकराव करने का निर्देश दिया गया है। सड़कों पर बसों को खड़ा करने वाले चालकों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।

शहर के पूर्वी बायपास रोड पर पुराना बस अड के पास यात्रियों के लिए खड़ी की गयी बस।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Vehicles live on road instead of stand