DA Image
26 जनवरी, 2020|3:04|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धार्मिक स्थल को क्षति पहुंचाने से आक्रोश

प्रखंड के सरौनी कला गांव में धार्मिक स्थल को क्षति पहुंचाने का आरोप लगाकर माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की गयी।

हालांकि प्रशासन की सक्रियता से स्थिति को काबू में कर लिया गया। इस बीच गांव में अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही। कथित धार्मिक संगठन का झंडा लहराते हुए कुछ लोग सड़कों पर उतर कर समुदाय विशेष के खिलाफ नारे लगाने लगे।

इस दौरान कई जगहों पर सड़क जाम कर दिया गया। सूचना मिलते ही डीएम नवदीप शुक्ला, एसपी संजय कुमार, एसडीओ एसजेड हसन, एसडीपीओ सीपी यादव मौके पर पहुंच कर माहौल को शांत कराने में जुट गए। इस बीच कई थानों की पुलिस जमा हो गयी। पारा मिलिट्री फोर्स के साथ मिलकर स्थिति पर काबू पाने के लिए मोर्चा संभाल लिया। आलाधिकारियों के आश्वासन के बाद प्रशासन को कार्रवाई के लिए सामूहिक रूप से आवेदन दिया गया। आवेदन में एक दर्जन लोगों को आरोपित करते हुए घटना में 45 अज्ञात लोगों के शामिल रहने की जानकारी दी गयी।

लोगों का कहना था कि धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने के लिए बीते शनिवार को देर रात धार्मिक स्थल को क्षति पहुंचायी गयी। माहौल को शांत कराने में सीओ रवीश कुमार, थानाध्यक्ष राकेश कुमार, अरार ओपीध्यक्ष राजबली कुमार, बिहारीगंज थानाध्यक्ष बीडी पंडित, पूर्व प्रमुख प्रमोद कुमार, उपप्रमुख पंकज दास, मुखिया बेबी कुमारी, भाकपा राज्य पार्षद निखिल झा के अलावे गांव के बड़े-बुर्जुगों की भूमिका सराहनीय रही। एहतियात के तौर पर गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

इस सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। चुनाव को देखते हुए मामले को लेकर प्रशासन पूरी तरह चौकस है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Resentment to harm religious sites