अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीडियो कांफ्रेंसिंग से रूबरू हुए प्रधानमंत्री

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मंगलवार को पीएम नरेन्द्र मोदी आंगनबाड़ी कर्मियों और आशा से रूबरू होकर उनसे प्रत्यक्ष संवाद स्थापित किया। इस दौरान आंगनबाड़ी कर्मियों के मानदेय और आशा के प्रोत्साहन राशि में वृद्घि करने की घोषणा की गयी। पीएम द्वारा अपने संवाद में पोषण अभियान को गति प्रदान करने में और तेजी लाने की अपील की गयी।

गौरतलब है कि सितंबर महीने को पोषण माह घोषित कर पूरे देश में पोषण के प्रति अभियान चलाया जा रहा है। प्रखंड कार्यालय में आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिंग में विभिन्न पंचायतों से चयनित सेविकाओं और आशा कार्यकर्ताओं को शामिल किया गया था। हालांकि इस दौरान उन्हें पीएम से संवाद स्थापित करने का मौका नहीं मिला। बताया गया कि इसके लिए सहरसा और सीतामढ़ी जिले से चयनित कर्मियों की सूची पूर्व में ही अनुमोदन के लिए भेजी गयी थी। वैशाली, कैमूर और बक्सर जिले से भी पीएम के संवाद होने की संभावना जाहिर की गयी थी।

उनलोगों ने बताया कि आंगनबाड़ी को प्री नर्सरी स्कूल का दर्जा मिलने की चर्चा चल रही थी। इससे उनके मानदेय में अप्रत्याशित वृद्घि होना तय था। गौरतलब है कि आंगनबाड़ी सेविका को केन्द्र द्वारा अभी तक तीन हजार रुपये मासिक मानदेय का ही भुगतान किया जाता है। इस घोषणा के लागू होने के बाद बतौर मानदेय केन्द्र सरकार द्वारा 4500 रुपये का भुगतान किया जाएगा। गत वर्ष राज्य सरकार सेविकाओं के मानदेय में अपनी ओर से 750 रुपये मासिक वृद्घि की घोषणा की थी। तत्क्षण इसे लागू भी कर दिया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Prime Minister with video conferencing