DA Image
19 जनवरी, 2021|5:27|IST

अगली स्टोरी

शहर में कचरा प्रबंधन की व्यवस्था दुरुस्त करने की तैयारी शुरू

default image

शहर में कचरा प्रबंधन को लेकर तैयारी तेज

23 लाख की लागत से विकसित किया जाएगा डंपिंग ग्राउंड

सुखासन में लगाया जाएगा जैविक खाद बनाने का प्लांट

नगर परिषद में कचरा प्रबंधन के लिए आज होगा टेंडर

मधेपुरा । नगर संवाददाता

शहर में कचरा प्रबंधन को लेकर तैयारी शुरू कर दी गयी है। कचरा प्रबंधन होने से शहर में जहां-तहां फेंके जा रहे कचरे पर हद तक अंकुश लग जायेगा। सदर प्रखंड मुख्यालय से सटे सुखासन गांव स्थित ढाई एकड़ सरकारी जमीन को चन्हिति किया गया है। 23 लाख की लागत से डंपिग ग्राउंड विकसित किया जायेगा। जिसमें 10 कठ्ठे जमीन में प्लांट लगाया जायेगा। प्लांट में अलग-अलग सूखा और गीला कचरा डालकर जैविक खाद का नर्मिाण होगा। जैविक खाद को सस्ते दर पर किसानों के बीच बेचा जायेगा। दूसरी तरफ दो बीघे जमीन में बेकार पड़े सीसे और मट्टिीयुक्त कचरे को गिराया जायेगा। शहर से दूर सुखासन गांव में बेकार पड़े सरकारी जमीन में कचरे का प्रबंधन होने से शहरी क्षेत्र में जहां-तहां फेंके जा रहे कचरे पर अंकुश लग जायेगा। शनिवार को नगर परिषद में कचरे प्रबंधन को लेकर प्लांट स्थापित करने, चारदीवारी नर्मिाण करने और मट्टिी भराई को लेकर टेंडर निकाला जायेगा। टेंडर खुलने के बाद मट्टिी भराई सहित नर्मिाण कार्य शुरू हो जायेगा।

हर दिन फेंका जाता है सात टन कचरा: नगर परिषद के सभी 26 वार्डो में हर दिन करीब सात टन कचरा फेंका जाता है। शहर के मुख्य रोड किनारे कर्पूरी चौक, सुभाष चौक, पुरानी कचहरी चौक, कॉलेज चौक, पोस्ट ऑफिस रोड सहित अन्य जगहों पर कचरे का अंबार लगा रहता है। अब दोनों स्वयंसेवी संस्था के कर्मी कचरे को एकत्रित कर ट्रैक्टर सहित अन्य उपकरणों के माध्यम से कचरे को शहर से बाहर ले जायेंगे। साथ ही कचरे का सदुपयोग कर जैविक खाद का नर्मिाण करेंगे। वर्तमान समय जहां-तहां कचरा फेंके जाने से प्रदूषण फैलने के साथ ही जमीन की उर्वरता धीरे-धीरे समाप्त हो जाती है।

नगर परिषद के पहल को लोगों ने सराहा: कचरा प्रबंधन को लेकर नगर परिषद के पहल को आम शहरवासियों ने सराहा है। वार्ड तीन के निवासी जीवन ज्योति ने कहा कि कचरा प्रबंधन होने से शहर की खुबसूरती बढ़ेगी। वार्ड 14 के निवासी डॉ. यशवंत कुमार, अर्चना कुमारी और अनिल कुमार ने कहा कि कचरा प्रबंधन विकसित हो रहे शहर की पहचान है। उन्होंने कहा कि कचरा प्रबंधन होने से अब शहरी क्षेत्र में हद तक प्रदूषण पर नियंत्रण होगा। वार्ड चार निवासी डॉ. अरुण कुमार, प्रेम कुमार और मनीष कुमार ने बताया कि कचरा प्रबंधन होने और कचरे से जैविक खाद का नर्मिाण करने की योजना नगर परिषद के लिए नये साल में शानदार उपलब्धि है।

कोट:

कचरा प्रबंधन को लेकर नगर परिषद सजग है। ढ़ाई एकड़ जमीन में कचरे को जैविक खाद बनाने के लिए प्लांट स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी।

प्रवीण कुमार, ईओ, नप

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Preparations begin to improve the system of waste management in the city