DA Image
19 जनवरी, 2021|9:55|IST

अगली स्टोरी

मधेपुरा के कुमारखंडमें कई विकास कार्य होने की उम्मीद

default image

नये साल में विकास के कई नए आयाम लिखे जाने की आस

मुरलीगंज से खुर्दा, कुमारखंड होते छातापुर रेल लाइन परियोजना होगी शुरू

डॉक्टरों और शक्षिकों की कमी होगी पूरी, स्टेडियम का होगा नर्मिाण

हर खेत में बिजली सुविधा मुहैया कराने की योजना हो पाएगी सफल

कुमारखंडह्णआशीष ठाकुर

एक ओर बीते वर्ष कई खट्टी- मीठी यादों के साथ बीत गया और नये साल के आगमन के साथ ही प्रखंड वासियों को क्षेत्र में कई तरह के विकास कार्यों की उम्मीद सरकार और प्रशासन से बनी हुई है। प्रखंड क्षेत्र के 21 पंचायतों में रहने वाले करीब तीन लाख की आबादी को आज भी इस इलाके होकर रेल परियोजना चालू होने की उम्मीद वर्षों से लगी हुई है। स्व. ललित नारायण मश्रि के रेल मंत्रत्वि काल में इस इलाके के लोगों को जो उम्मीद जगी थी वह उनके साथ ही चली गई। लेकिन वर्तमान समय में इस रेल परियोजना को केंद्र सरकार द्वारा हरी झंडी मिलने के बाद लोगों के अंदर नए साल में इस परियोजना के शुरू होने की उम्मीद है। पीएचसी को सीएचसी का दर्जा तो दे दिया गया, लेकिन अभी भी यहां स्वास्थ्य सेवा को पटरी पर लाने के लिए डॉक्टर, महिला चिकत्सिक, ड्रेसर जैसे कई मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति होना बाकी है। नए साल में प्रखंड वासियों को प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चार एमबीबीएस डॉक्टर और एक महिला चिकत्सिक की पदस्थापना होने के बाद भी इनके कार्य शुरू करने की उम्मीद लगी है। 21 पंचायत के इस प्रखंड मुख्यालय में एक स्टेडियम नहीं रहने से बड़े पैमाने पर खेलकूद का आयोजन नहीं हो पाता है, जिससे खेलकूद के क्षेत्र में प्रतिभाओं को आगे आने का अवसर सही ढंग से नहीं मिल पा रहा है। क्षेत्र में प्रतिभावान खिलाड़ियों के भवष्यि को देखते हुए लोगों को सरकार से एक स्टेडियम ब्लॉक मुख्यालय में बनाने की उम्मीद दिखाई दे रही है। इसी तरह सरकार द्वारा हर खेत में बिजली सुविधा मुहैया कराने के लिए किसानों से आवेदन लिए गए हैं। लोगों को इस बात की आस जगी है कि नए वर्ष में अलग फीडर की स्थापना कर सरकार हर किसानों के खेतों तक बिजली की व्यवस्था कराकर सिंचाई सुविधा बहाल कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी। प्रखंड मुख्यालय से रौता रानीपट्टी बेलारी होते हुए जिला मुख्यालय जाने वाली सड़क की जर्जर हालत में सुधार के साथ-साथ इसके पुनर्नर्मिाण की भी आस है। यह इलाके के लोगों के लिए आवागमन की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण सड़क है। वहीं श्रीनगर और पुरैनी में लाखों रुपए से नर्मिति बंद पड़े जल मीनार से नए साल में पानी निकलने की आस भी लोगों को बनी हुई है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के आत्मसमर्पण वद्यिालय भोकराहा में आयोजित सभा में किए गए घोषणा के बाद से ही प्रखंड वासियों को एक पॉलिटेक्निक कॉलेज की स्थापना की आस जगी थी। इसी तरह रोड नंबर 18 जो दरभंगा जिले के उच्चैठ स्थान से होकर प्रखंड क्षेत्र के बेलारी , बी.कोडलाही, खुर्दा, बैसाढ होते पूर्णिया जिले से आगे तक जाती है के नर्मिाण कार्य पूरे होने की उम्मीद है। इसी तरह प्रखंड के कई पंचायतों में छोटे-बड़े पुल पुलिया, एक पंचायत से दूसरी पंचायत को जोड़ने वाली सड़क का नर्मिाण और 51 एचएससी और तीन एपीएचसी में आम लोगों के लिए स्वास्थ्य सेवा बहाल होने की भी उम्मीद बनी हुई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Many development works expected in Kumarakhand of Madhepura