DA Image
30 नवंबर, 2020|10:49|IST

अगली स्टोरी

दो माह में ही टूट गयी नली- गली

दो माह में ही टूट गयी नली- गली

मधुवन पंचायत अंतर्गत वार्ड नौ में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना से दो महीने पहले बनी नाली- गली ध्वस्त हो गयी। नाली और गली मात्र दो महीने में ही ध्वस्त होने के कारण ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों ने मामले की जांच कर कार्रवाई करने की प्रशासन से मांग की है। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत वार्ड नौ में उपेन्द्र शर्मा के घर से विष्णुदेव सिंह के खेत तक फेवर ब्लॉक और मिट्टी भराई कार्य किया गया था।

प्रबंधन समिति में वार्ड नौ के वार्ड सदस्य सह उपमुखिया रीना देवी एवं वार्ड सचिव जितेन्द्र कुमार शामिल हैं। दो महीने में नली- गली ध्वस्त होने के बाद कई जगह बड़े- बड़े गड्ढे बन गए हैं। चनरदेव शर्मा के घर के आगे सड़क टूटने के कारण पानी बहने से आवागमन बाधित हैं। निर्माण कार्य में घटिया सामग्री का प्रयोग किए जाने से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीण चनरदेव शर्मा, हेमंत शर्मा, चन्देश्वरी शर्मा, बिनोद शर्मा, युवा शक्ति कमिटी के अध्यक्ष नवीन कुमार आदि ग्रामीणों ने कहा कि मधुवन पंचायत के मध्य विद्यालय तीनटेंगा में कार्यरत एक शिक्षक द्वारा लॉकडाउन के दौरान रात में सड़क का निर्माण कराया गया था।

उनलोगों की शिकायत पर प्रशासन ने निर्माण कार्य पर रोक लगा दी थी। रात में जैसे- तैसे निर्माण कर सरकारी धन का गोलमाल किया गया। यही कारण है कि दो माह में ही गली नाली ध्वस्त हो गयी। उन्हों कहा कि दो लाख रुपये से अधिक की लागत से नली- गली बनायी गयी थी। इस मामले में कार्रवाई नहीं होने पर ग्रामीणों ने आंदोलन करने की चेतावनी दी है। बीडीओ प्रभात केसरी ने बताया कि मामले की जांच वे खुद करेंगे। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। सड़क को दुरुस्त किया जाएगा।