DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मधेपुरा  ›  कोरोना के एक्टिव केस हुए 2064

मधेपुराकोरोना के एक्टिव केस हुए 2064

हिन्दुस्तान टीम,मधेपुराPublished By: Newswrap
Fri, 14 May 2021 03:35 AM
कोरोना के एक्टिव केस हुए 2064

मधेपुरा हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच गुरुवार को संक्रमित पाए जाने वाले मरीजों की संख्या में कमी आयी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन का मानना है कि कोरोना संक्रमण का खतरा अभी कम नहीं हुआ है। कोरोना गाइड लाइन और लॉकडाउन के नियमों का शत प्रतिशत पालन किया जाना जरूरी है। कोरोना संक्रमण के बीच मौत का सिलसिला जारी है।

पिछले 24 घंटे में मधेपुरा के जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के दौरान चार लोगों की मौत हो गयी है। बताया गया कि मरने वालों में तीन मधेपुरा के और एक पूर्णिया के निवासी हैं। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार मधेपुरा शहर के दो लोग और कुमारखंड प्रखंड के एक लोग कोरोना संक्रमण की भेंट चढ़ गए। जबकि पूर्णिया के रहने वाले एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गयी। जिले में कोरोना के एक्टिव केस 2064 बताए जा रहे हैं। जबकि कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 5736 पर पहुंच गयी है।

सदर अस्पताल सहित सभी पीएचसी और सीएचसी के अलावा मेडिकल कॉलेज में गुरुवार को की गयी एंटीजन जांच में कोरोना संक्रमित 111 नए मरीजों की पहचान की गयी। सदर अस्पताल और उदाकिशुनगंज पीएचसी में जांच के दौरान सबसे अधिक लोगों में कोरोना का संक्रमण मिला। सदर अस्पताल में एंटीजन जांच में 34 और उदाकिशुनगंज में 25 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। बिहारीगंज पीएचसी में 11 और मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना संक्रमित 10 लोगों की पहचान की गयी। इसके अलावा गम्हरिया में 9, चौसा में 4, घैलाढ़ में 1, ग्वालपाड़ा में 4, कुमारखंड में 5, मुरलीगंज में 1, मुरहो पीएचसी में 3, पुरैनी में 2, शंकरपुर में 1, सिंहेश्वर में 1 और मधेपुरा क्रिश्चियन अस्पताल में 2 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए।आलमनगर में गुरुवार को एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिला।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार कोरोना संक्रमित पाए गए लोगों में 1655 को होम आइसोलेशन में भेजा गया है। 35 मरीजों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया है। इसके अलावा टीपी कॉलेज आइसोलेशन सेंटर में 7, और सदर अस्पताल आइसोलेशन सेंटर में 17 और मिशन हास्पीटल में 17 मरीजों को रखा गया है। वहीं 333 संक्रमित मरीजों को शिफ्ट करने की प्रकिया चल रही है। हालांकि लॉकडाउन का असर जिला में दिखाई देने लगा है। कोरोना के केस कम होने लगे हैं।

संबंधित खबरें