DA Image
31 अक्तूबर, 2020|9:12|IST

अगली स्टोरी

मांगों को पूर्ति होने तक जानकारी रहेगा आंदोलन

default image

बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के राज्यव्यापी आह्वान पर आंदोलन के तीसरे चरण में बिहार के सभी 534 प्रखंडों में मशाल जुलूस निकालकर सरकार के शिक्षा व शिक्षक विरोधी नीति के खिलाफ नारे लगाते हुए अग्नि के समक्ष एनडीए प्रत्याशी के विरोध में मत देने का संकल्प लिया गया। प्रखंड अध्यक्ष नंदकिशोर कुशवाहा के नेतृत्व में शनिवार को बीआरसी परिसर हलसी से मशाल जुलूस निकलकर नकली सेवा शर्त के विरोध में नीतीश सरकार के विरुद्ध नारे लगाते हुए प्रखंड मुख्यालय परिसर में संकल्प सभा के रूप में परिणत हो गया। संघ के प्रदेश सचिव बिपिन बिहारी भारती ने कहा कि 19 सितंबर को नियमित शिक्षकों की भांति सेवा शर्त, वेतनमान, पेंशन, अनुकंपा का लाभ, राज्य कर्मी का दर्जा आदि मांगों के समर्थन में तथा नकली सेवा शर्त व नकली इपीएफ के विरोध में संकल्प सभा का आयोजन बिहार के सभी प्रखंडों में किया गया।

प्रदेश सचिव ने कहा कि बिहार सरकार अहंकार में मस्त है, जिसके कारण शिक्षकों की मांगों को लगातार अनदेखी कर रही है। संकल्प सभा में निरंजन कुमार, श्रवण कुमार, मृत्युंजय कुमार, शंकर कुमार, मिंटू कुमार, प्रमोद राम, विपिन कुमार, अमरनाथ पासवान, रेखा कुमारी, रानी कुमारी, सोनम कुमारी, सुनीता कुमारी, दिनेश पासवान, सत्यनारायण पंडित, विभा कुमारी, कंचन कुमारी सहित दर्जनों शिक्षक-शिक्षिका उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The movement will remain aware till the demands are met