Sleeper laying for new platform - नए प्लेटफॉर्म के लिए बिछ रहा स्लीपर DA Image
18 नबम्बर, 2019|11:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए प्लेटफॉर्म के लिए बिछ रहा स्लीपर

नए प्लेटफॉर्म के लिए बिछ रहा स्लीपर

किऊल एवं लखीसराय जंक्शन पर नए प्लेटफॉर्म के निर्माण को लेकर सीमेंटेड स्लीपर बिछाने का काम कंट्रक्शन डिपार्टमेंट ने शुरू कर दिया है। किऊल एवं लखीसराय जंक्शन के बीच आने वाली नदी के ऊपर नवनिर्मित पुल के दोनों ओर समतल की गई जमीन पर पटरी बिछाने को लेकर सीमेंटेड स्लीपर बिछाने का कार्य किया जा रहा है।

लखीसराय में स्लीपर बिछाने एवं किऊल जंक्शन पर स्लीपर के साथ-साथ रेल ट्रैक बिछाने का कार्य भी किया जा रहा है। लखीसराय स्टेशन पर लगभग 15-20 दिन पहले स्लीपर बिछाने का कार्य शुरू किया गया था, जो लगातार बारिश के कारण बंद करना पड़ा था। दरअसल बारिश के कारण स्लीपर बिछाने वाले स्थान पर पानी के कारण कीचड़ के साथ-साथ तालाब का रूप ले लिया था। दोनों स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा को लेकर अतिरिक्त प्लेटफॉर्म का निर्माण किया जा रहा है। साल के अंत तक दोनों स्थानों पर नए प्लेटफॉर्म का निर्माण पूरा करने का लक्ष्य रेलवे के वरीय पदाधिकारियों द्वारा कंट्रक्शन विभाग को दिया गया है। हाजीपुर जोन एवं दानापुर डिवीजन के वरीय पदाधिकारियों द्वारा लगातार दोनों स्थानों पर कार्य निरीक्षण व कार्य में गति लाने को लेकर दौरा किया जा रहा है, ताकि तय समय पर निर्माण को पूरा किया जा सके। वरीय पदाधिकारियों द्वारा निरीक्षण के दौरान कई बार कंट्रक्शन में लगे कर्मियों को धीमी गति से कार्य करने को लेकर फटकार भी लगाया जा चुका है। ज्ञात हो कि किऊल एवं लखीसराय जंक्शन पर नए प्लेटफॉर्म एवं पुल निर्माण का कार्य पिछले साल के अंत तक ही किया जाना था। जबकि दोनों जंक्शन में से किसी भी स्थान पर निर्माण कार्य पूरा नहीं किया जा सका है। कंट्रक्शन में लगे कर्मियों की माने तो इस साल के अंत भी निर्माण कार्य पूरा होने की संभावना नहीं दिख रही है। क्योंकि अभी तक किऊल जंक्शन पर पुराने टिकट काउंटर तोड़े जाने के बाद वहां की जमीन का समतलीकरण भी पूरा नहीं किया जा सका है। वहीं सब-वे के ऊपर एक और ढ़लाई का किया जाना है। तो लखीसराय में प्लेटफॉर्म निर्माण के लिए फिलहाल कोई पहल शुरू नहीं हो पाया है।

केवल रेल ट्रैक बिछाने को लेकर सीमेंटेड स्लीपर बिछाने का कार्य किया जा रहा है। ऐसे में रेलवे के वरीय पदाधिकारियों द्वारा साल के अंत तक निर्माण कार्य पूरा किया जाने के दावे का कोई औचित्य नहीं दिख रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sleeper laying for new platform