Raiding of polythene bans - पॉलीथिन बैन को लेकर छापेमारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉलीथिन बैन को लेकर छापेमारी

पॉलीथिन बैन को लेकर छापेमारी

शहर को प्रदषूण मुक्त, स्वस्थ्य व स्वच्छ बनाने की मुहिम को लेकर रविवार से नगर प्रशासन के द्वारा पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगा दिया गया। नगर प्रशासन के द्वारा पॉलीथिन के खिलाफ मुहिम छेड़ दे दी गई। नगर प्रशासन के टीम में शामिल सिटी मैनेजर वेद प्रकाश वर्णवाल, टैक्स दरोगा वीरेन्द्र कुमार, कर्मी महेश मंडल, सुरेश सहित अन्य के द्वारा नगर परिषद कार्यालय से लेकर विद्यापीठ चौक तक छापेमारी अभियान चलाया गया। नगर प्रशासन टीम के द्वारा की गई छापेमारी अभियान से दुकानदारों में हड़कंप मचा रहा। नगर प्रशासन ने बताया कि पॉलीथिन पर पूर्ण रूपेण प्रतिबंध को लेकर पहले दिन 15 दुकानों में छापेमारी कर कुल 3700 रूपए जुर्माना वसूला गया। जुर्माना की राशि 100 रुपए से लेकर 1500 रुपए तक वसूली की गई। पॉलीथिन पर रोक को लेकर लगातार अभियान जारी रहेगा। बताया गया कि नगर प्रशासन पॉलीथिन के उत्पादन करने वालों से लेकर इस्तेमाल करने वालों पर पैनी नजर रखी जाएगी। इसका इस्तेमाल पर आर्थिक दंड लगाया जाएगा। बार-बार इस्तेमाल करने पर जेल तक हवा खानी पड़ सकती है। बताया गया कि व्यक्तिगत स्तर पर पॉलीथिन का इस्तेमाल करने वालों को कम से कम 100 रुपए और बड़े पैमाने पर प्लास्टिक थैले के निर्माण से लेकर बिक्री करने व इस्तेमाल करने पर 2500 रुपए तक जुर्माना वसूला जाएगा। पॉलीथिन के खिलाफ मुहिम छेड़े जाने पर पहले दिन से ही असर दिखने लगा। शहर के सब्जी, मछली, ठेला व फुटपाथी दुकानदार पॉलीथिन के बजाए जूट व कपड़े की बनी थैली का प्रयोग करना शुरू कर दिए हैं। सब्जी दुकानदार रवि वर्मा, मछली विक्रेता कारू सहित अन्य ने बताया कि कपड़े की बनी थैली 380 रूपए प्रति किलो खरीदकर लाना पड़ रहा है। ग्राहक थैली का कीमत देना नहीं चाहते हैं। थैली नहीं देने पर व्यवसाय पर भी असर पड़ना शुरू हो चुका है। हलांकि प्लास्टिक के खिलाफ मुहिम के पहले दिन के बाद भी कई सब्जी दुकानों, किराना व गल्ला के दुकानों में चोरी-छिपे पॉलीथिन का प्रयोग हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Raiding of polythene bans