DA Image
21 जनवरी, 2021|7:42|IST

अगली स्टोरी

जिले में परिवार नियोजन की दर में आई बढ़ोतरी

default image

लखीसराय | हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

गर्भनिरोधक साधनों के उपयोग से अनचाहे गर्भ से बचा जा सकता है। अनचाहे गर्भ से जहां माताओं को बच्चों के बेहतर देखभाल में मुश्किलें आती हैं, वहीं इससे माता एवं शिशु के स्वास्थ्य प्रभावित होने की संभावना भी बढ़ जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार विकासशील देशों में 21 करोड़ से अधिक महिलाएं अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाना चाहती हैं। जिसका परिणाम राज्य के साथ जिले में भी देखने को मिला रहा है।

परिवार नियोजन के बेहतर परिणाम के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है। सरकारी प्रयासों का ही ये परिणाम है कि सामुदायिक जागरूकता में कई चुनौतियों के बीच गर्भनिरोधक के उपयोग के साधन ने मिसाल पेश की है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-4 के अनुसार जिले में 15 साल से 49 साल तक की 34.7 प्रतिशत महिलाएं किसी ना किसी गर्भनिरोधक साधन का उपयोग करती थी। वहीं राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-5 के अनुसार 67.0 प्रतिशत महिलाएं किसी ना किसी गर्भनिरोधक साधन का उपयोग कर रही हैं। जबकि राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-4 के अनुसार 34.4 प्रतिशत महिलाएं नवीन गर्भनिरोधक साधन का इस्तेमाल करती थीं। वहीं अब राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-5 के अनुसार 50.4 प्रतिशत महिलाएं इस साधन का उपयोग कर रही हैं।

कंडोम बॉक्स एक अच्छी पहल: सीएस डॉ आत्मनंद राय ने बताया गर्भ निरोधक साधनों का उपयोग जनसंख्या स्थिरीकरण के साथ बेहतर प्रजनन स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। इसको लेकर जिला स्तर से लेकर सामुदायिक स्तर तक परिवार नियजोजन कार्यक्रम के तहत विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Increase in the rate of family planning in the district