DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चार दिन बाद बम को किया गया डिफ्यूज

कबैया थाना क्षेत्र में वार्ड 17 में 26 मई को बाइपास से सटे गांधीनगर में मिले जिंदा बम को चौथे दिन डिफ्यूज कर दिया गया। बम मिलने पर आसपास के लोग चार दिनों तक दहशत में रहे। एक प्लास्टिक झोले में छिपाकर एक नवनिर्मित मकान से सटाकर पांच बम रखा गया था।

मंगलवार की सुबह पटना से आई बम निरोधक दस्ता ने झोले में रखे पांच देसी बमों को डिफ्यूज किया। बम को डिफ्यूज किए जाने के बाद स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली। विदित हो कि बम मिलने की सूचना पर आनन-फानन में मामले की सूचना पुलिस को दी गई थी, इसके बाद एसपी कार्तिकेय के शर्मा के निर्देश के आलोक में एएसपी अभियान और कबैया थानाध्यक्ष ने डिटेक्टर मशीन के साथ मौके पर पहुंचा था।

मशीन से जांच करने के बाद झोले में कुछ ऐसे सुतली बम निकले, जोकि सामान्य विस्फोट कराने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। आशंका जताई जा रही थी कि असामाजिक तत्वों द्वारा किसी विवाद में दहशत फैलाने के लिए बम लाया गया था। बम से किसी को आहत नहीं हो, इसके लिए दो जवानों को भी प्रतिनियुक्त किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Four days later, the defused bombs