DA Image
6 अक्तूबर, 2020|8:28|IST

अगली स्टोरी

फर्जी वेतन भुगतान में पदाधिकारियों के उड़े चेहरे

default image

हलसी प्रखंड के कैंदी पंचायत के 12 फर्जी नियोजित शिक्षकों के वेतन भुगतान मामले में शिक्षा विभाग के नोडल पदाधिकारी सह एडीएम इबरार आलम के सख्ती से पदाधिकारियों के चेहरे की रंगत उड़ने लगी है। एडीएम के द्वारा वेतन भुगतान से संबंधित मामले में दोषियों को घेरा में लाने के लिए संचिका खंगाला जा रहा है। एडीएम के सख्त रवैया से शिक्षा पदाधिकारी परेशान है। बीईओ से लेकर जिलास्तर के पदाधिकारी लगातार अपने को सुरक्षित करने का प्रयास कर रहे है। नोडल पदाधिकारी ने कहा कि पंचायत नियोजन इकाई के नियोजन की प्र्त्रिरया पूरी की जाती है। नियोजन के बाद की जिम्मेदारी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी की होती है। उन्होंने कहा कि प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को जांच करके रिपोर्ट देने को कहा गया है।

उन्होने कहा कि एक सप्ताह के अंदर पूरे मामले का पटाक्षेप कर लिया जाएगा। जो भी दोषी होंगे उन्हें किसी भी कीमत पर बक्सा नहीं जाएगा। एडीएम ने कहा कि पूरे मामले पर प्रशासन की नजर बनी हुई है। कहीं से भी दोषी को छोड़ने का यसवाल नहीं है। वहीं जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा भी 12 अगस्त को नियोजन इकाई के सचिव एवं प्रखंड शिक्षा को संचिका के साथ कार्यालय में तलब किया गया है। डीइओ भी नियोजन की बैधता की जांच करेगें और वास्तविक स्थिति से नोडल पदाधिकारी एवं डीएम को अवगत कराएंगे। शिक्षा विभाग कैंदी पंचायत के नियोजन एवं वेतन भुगतान के मामले में हुए किरकिरी को डैमेज कंट्रोल करने का प्रयास कर रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Faces of office bearers in fake salary payment