DA Image
5 अगस्त, 2020|7:00|IST

अगली स्टोरी

इलाज के अभाव में आशा कार्यकर्ता की हुई मौत

default image

चिकित्सकों की लापरवाही से गुरुवार को एक आशा कार्यकर्ता की मौत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सूर्यगढ़ा में हो गई। जिले में लगातार दो दिनों में यह दूसरा मामला है, जब चिकित्सकों की लापरवाही से किसी मरीज की मौत हुई है। दोनों मरीजों को महज कोरोना का संदिग्ध मानते हुए चिकित्सकों ने इलाज करने में लापरवाही बरती।

आशा कार्यकर्ता की मौत गुरुवार की रात करीब सवा आठ बजे हो गई। मृतका के पति ने बताया कि बिकोलाई की मरीज थी। सीएससी में चिकित्सा पदाधिकारियों से बार-बार गुहार लगाने के बाद भी किसी भी चिकित्सक ने इलाज करना मुनासिब नहीं समझा । एक दवा दुकान में उन्होंने अपनी पत्नी को स्लाइन चढ़वाया। देर शाम महिला की मौत उसी दवा दुकान में हो गई। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा.जवाहर साहू ने कहा कि आशा कार्यकर्ता की मौत एक दवा दुकान के पास हुई है। होम क्वारंटाइन के लिए निर्देश था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Asha worker dies due to lack of treatment