DA Image
3 दिसंबर, 2020|5:46|IST

अगली स्टोरी

शहर में कई जगह जाम रेंगते रहे छोटे-बड़े वाहन

शहर में कई जगह जाम रेंगते रहे छोटे-बड़े वाहन

किशनगंज शहर में इन दिनों जाम की समस्या गंभीर बनती जा रही है। मंगलवार को भी शहर के फलचौक, नेमचंद रोड, चूड़ीपट्टी, कैलटैक्स चौक,बायपास रोड में जाम की समस्या से लोगों को परेशान होना पड़ा। लोग जाम में फंसे रहे।जाम की वजह सड़क किनारे वाहनों की गलत तरीके से पार्क करना, सड़क का दुकानदारों के द्वारा किया गया अतिक्रमण है। मंगलवार को शहर की प्रमुख सड़कों के अलावे कलेक्ट्रेट रोड जानेवाली एन एच बायपास सड़क पर अक्सर जाम की समस्या उत्पन्न हो गई। वजह थोड़ी दूर सड़क की चौड़ाई कम रहने से एक तरफ से कोई भी बड़ा गाड़ी घुसने पर यह समस्या हो जाती है। मंगलवार को भी सुबह साढ़े ग्यारह बजे के करीब इस सड़क पर जाम से लोगों को परेशान होना पड़ा।

डीएम आवास के समीप से लेकर पेट्रोल पंप तक जाम के कारण गाड़ियों की लंबी कतार लगी रही। जाम को देखते कई वाहन चालक रास्ता बदल कर दूसरे रास्ता होकर गंतव्य की ओर रवाना हुए।डीएम आवास से थोड़ी दूर आगे बढ़ने पर एक तरफ फ्लाई ओवर व दूसरी तरफ होटल रहने से कुछ दूर तक सड़क संकीर्ण हो गयी है। जिस कारण जाम की समस्या अक्सर देखने को मिलती है। हालांकि यहां जाम की समस्या को देखते तत्कालीन डीएम हिमांशु शर्मा के निर्देश पर यहां चल रहे खाना का होटल को बंद करा दिया गया था। नालियों के ऊंचे ढ़क्कन को हटा कर यहां लोहा का प्लेन जाली लगाया गया ताकि वाहनों को आवाजाही में परेशानी न हो। कुछ दिन तो सब ठीक रहा। लेकिन फिर से जाम की समस्या शुरु हो गयी। इसके अलावा शहर के फल चौक, नेमचंद रोड, महावीर मार्ग, धर्मशाला रोड पर भी जाम की समस्या से लोगों को रुबरु होना पड़ा।

ई रिक्शा वालों की मनमानी से जाम की बढ़ती है समस्या: शहर में ई रिक्शा की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिस कारण सड़कों पर वाहनों का दवाब भी बढ़ा है। ई रिक्शा चालकों की मनमानी के कारण सड़क पर जाम की समस्या हो रही है। हर चौक-चौराहों पर जहां मन किया वहीं गाड़ी खड़ा कर सवारी बिठाने लगते हैं। एक ई रिक्शा के पीछे कई ई रिक्शा खड़ी रहती है। सवारी बिठाने की आपाधापी में ई रिक्शा चालक आड़े तिरछे रिक्शा खड़ा कर देता है। जिस कारण सड़क पर जाम लगना आम हो गया है। इन्हें ट्रैफिक नियमों से कोई वास्ता नहीं रहता है। आज तक ई रिक्शा का रजिस्ट्रेशन भी परिवहन विभाग नहीं करा पाया है। इस कारण भी ई रिक्शा की संख्या लगातार बढ़ रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Small and big vehicles kept jamming in many places in the city