DA Image
6 दिसंबर, 2020|3:28|IST

अगली स्टोरी

स्कन्दमाता स्वरूप की हुई पूजा-अर्चना

स्कन्दमाता स्वरूप की हुई पूजा-अर्चना

शारदीय नवरात्र में मां दुर्गा की पूजा-अर्चना भक्तिभाव से की जा रही है। इससे क्षेत्र का माहौल भक्तिमय हो उठा है। बुधवार को मां दुर्गा के पंचम स्वरुप स्कन्दमाता की पूजा हुई। मां दुर्गा के पांचवें स्वरूप को स्कन्दमाता के नाम से जाना जाता है। इनकी उपासना नवरात्र के पाचवें दिन की जाती है। भगवान सकन्द कुमार का्त्तितकेय नाम से भी जाने जाते हैं। शहर के प्रमुख दुर्गा मंदिरों में कलश स्थापना को ही मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई है और वैदिक मंत्रोच्चार एवं विधि-विधान के साथ मां दुर्गा की पूजा की जा रही है।

शहर के प्रसिद्ध एवं प्राचीन बड़ी कोठी दुर्गा मंदिर, शिवशक्ती धाम दुर्गा मंदिर लोहारपट्टी, मनोरंजन क्लब दुर्गा पूजा स्थल, रमजान पुल शिव मंदिर स्थित पूजा पंडाल, मोतिबाग काली मंदिर में स्थापित दुर्गा प्रतिमा, तांती बस्ती दुर्गा मंदिर, कसेरापट्टी रोड स्थित दुर्गा मंदिर आदि मंदिरों में प्रतिमा स्थापित कर मां दुर्गा की पूजा एवं आराधना की जा रही है। वहीं शहर के उत्तरपाली दुर्गा मंदिर, पश्चिमपाली दुर्गा मंदिर, भगवती गोला धर्मशाला रोड भगवती मंदिर, रेल गुमटी धरमगंज स्थित श्री विष्णु राधा कृष्ण हनुमान मंदिर में मां दुर्गा की स्थाई प्रतिमा स्थापित है और यहां भी पूरे विधि-विधान एवं वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मां दुर्गा की पूजा की जा रही है।

इस दौरान दुर्गा मंदिरों में मंत्रोच्चार से माहौल भक्तिमय हो उठा। शहर के प्राचीन एवं प्रसिद्ध मंदिर बड़ी कोठी दुर्गा मंदिर में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना की जा रही है। सुबह शाम आरती से माहौल भक्तिमय बना हुआ है। सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए भक्तों को आरती में शामिल कराया जा रहा है। मंदिर कमिटी के लोगों ने बताया कि पूजा के दौरान सभी जरूरी नियम का पालन किया जा रहा है। वहीं घरों में भी श्रद्धालु मां दुर्गा की पूजा कलश स्थापित कर कर रहे हैं। इस दौरान शहर में 10 दिनों तक माहौल भक्तिमय बना रहेगा। मां दुर्गा की पूजा आराधना से क्षेत्र का माहौल भक्तिमय होने लगा है। पंडित मंतोष पांडेय ने बताया कि मां दुर्गा की पूजा और आराधना से दुख, दरिद्रता का नाश होता है और सुख, समृद्धि की वृद्धि होती है। और भक्त जिस मनोकामना से मां दुर्गा की आराधना करते हैं उनकी मनोकामना भगवती पूरी करती है। दुर्गा पुजा को लेकर बाजारों में भी चहल पहल बढ़ने लगी है।