DA Image
17 जनवरी, 2020|9:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्रियान्वयन में नहीं बरतें लापरवाही


क्रियान्वयन में नहीं बरतें लापरवाही

समाहरणालय परिसर के सभागार में शनिवार को सात निश्चय योजनाओं को लेकर एक बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता डीएम महेन्द्र कुमार कर रहे थे। बैठक में डीएम श्री कुमार ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सात निश्चय योजना सरकार की महत्वपूर्ण योजना है। उक्त योजनाओं को गंभीरता से लें। योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतें।

डीएम ने प्रखंड के बीडीओ व सीओ को निर्देश देते हुए कहा कि पक्की गली-नाली योजनओं को 31 मई तक हर हाल में पूरा कर लेना है। जिसकी रिपोर्ट भी जमा करने का निर्देश दिया गया। साथ ही गत वर्ष के योजनाओं की तैयारी अभी से ही करनी है। इसके अलावा बैठक में ओडीएफ को लेकर भी निर्देश दिया गया। डीएम ने निर्देश देते हुए कहा कि ओडीएफ के कार्य को लेकर प्रत्येक दिन संबंधित अधिकारी को ऑन लाइन रिपोर्ट करना है।

स्थल जाकर भी जांच करना है। जियो टेकिंग को बढ़ाने के लिए जितना जल्द हो भुगतान सुनिश्चत करना है। उन्होंने कहा कि सात निश्चय योजना के तहत हर घर बिजली, हर घर पक्की गली नालियां आदि को निर्धारित समय पर पूर्ण किया जा सके जिससे नागरिकों का जीवन सुगम व सहज हो सके। डीएम ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सात निश्चय योजनाओं के क्रियान्वयन में संबंधित पदाधिकारियों की भूमिका अहम है। बैठक में एडीएम रामजी साह, जिला पंचायती राज पदाधिकारी सत्यनारायण मंडल व सभी प्रखंडो के बीडीओ मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:No recklessness in implementation