DA Image
27 अक्तूबर, 2020|10:32|IST

अगली स्टोरी

किशनगंज: डोक नदी के कटाव से भयभीत ओद्रा गांववासी

किशनगंज: डोक नदी के कटाव से भयभीत ओद्रा गांववासी

किशनगंज प्रखंड क्षेत्र के हालामाला पंचायत के ओद्रा गांव डोक नदी की कटाव की चपेट में आ गया है जिससे गांव के लोग भयभीत हैं। कभी दूर से बहती डोक नदी के पश्चिम किनारे लगातार हो रही कटाव से का करीब 150 घर की लगभग 500 की आवादी वाला ओद्रा गांव का बीच टोला में कटाव का खतरा मंडराने लगा है।

हालामाला पंचायत के मुखिया इसहाक आलम का घर भी कटाव के जद में आ सकता है। मुखिया इसहाक आलम, ओद्रा निवासी समाजसेवी शब्बीर आलम, मो. इसराइल , परवेज आलम आदि ग्रामीणों ने बताया कि डोक नदी के पश्चिम किनारे नदी की धार व बरसाती पानी से प्रत्येक वर्ष कटाव गांव की ओर बढ़ रहा है। इस बाढ़ में भी करीब 40 फिट कटाव कर गांव की ओर बढ़ते हुए कटाव से गांव की दूरी महज लगभग 50 फीट रह गई है। कटाव रोधी कार्य नहीं होने से ग्रामीण नाराज व भयभीत हैं। कटान से उपजाऊ वाली बड़ी भूखंड नदी में विलीन हो गया है। जिस से कई छोटे छोटे किसान भूमिहीन हो चुका है। जल्द कटाव निरोधी कार्य नही होने से 150 घर वाले आबादी को पलायन करने पर विवश होना पड़ेगा। ग्रामीणों ने बताया कि प्रत्येक वर्ष बाढ़ व बरसात से कटाव को रोकने के लिए कई बार सांसद व विधायक के जल निस्सरण विभाग के अधिकारियों से कटाव निरोधी कार्य करने के लिए गुहार लगाने के बावजूद गांव को बचाने के अबतक किसी ने प्रयास नहीं किया है। हर बार अश्वासन ही मिल रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि दो दिन पहले जल निस्सरण विभाग का कार्यपालक अभियंता कटाव का जायजा लेने पहुंचे थे। कटाव का निरीक्षण के दौरान ग्रामीणों द्वारा कटाव निरोधी कार्य कराने की मांग पर कहा कि 29 जून तक भारी बारिश का अलर्ट है ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kishanganj Odra villagers fearing erosion of Dok river