DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  टीकाकरण की रफ्तार तेज करने को लेकर विचार-विमर्श
कोसी

टीकाकरण की रफ्तार तेज करने को लेकर विचार-विमर्श

हिन्दुस्तान टीम,कोसीPublished By: Newswrap
Sat, 12 Jun 2021 10:50 PM
टीकाकरण की रफ्तार तेज करने को लेकर विचार-विमर्श

किशनगंज। नगर संवाददाता

जिले में कोविड टीकाकरण अभियान जोर-शोर से चल रहा है। टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए टीका एक्सप्रेस की शुरुआत की गई है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी टीका के प्रति अफवाह व भ्रांतियां फैली हुई हैं । राज्य स्वास्थ्य समिति,बिहार के निदेशानुसार जिला स्तर पर कोविड जिला स्तरीय कम्युनिकेशन टास्क फोर्स गठित किया गया। जिले में कोविड टीकाकरण को लेकर व्याप्त भ्रांतियों, अफवाहों एवं दुष्प्रचार को समाप्त कर लोगों को स्वैच्छिक रूप से टीकाकरण हेतु प्रेरित करने के लिए शनिवार को जिला परिषद् के सभागार में डीएम डॉ आदित्य प्रकाश की अध्यक्षता में कोविड जिला संचार टास्क फोर्स की बैठक का आयोजन किया गया। लाभार्थियों में टीकाकरण के प्रति व्याप्त भ्रांतियों का होना प्रमुख कारण है।

अभियान के सफल संचालन के लिए इसका तत्क्षण निराकरण किया जाना अत्यंत आवश्यक है। बैठक में मुख्य रूप से कोविड संक्रमण से निजात पाने के तरीकों पर टास्क फोर्स के सदस्यों द्वारा विचार विमर्श किया गया। डीएम की अध्यक्षता में आयोजित इस टास्क फोर्स की बैठक में एसपी कुमार आशीष सिविल सर्जन डॉ श्रीनंदन, डीडीसी मनन राम, एसडीएम शाहनवाज अहमद नियाजी , डीईओ सुभाष कुमार गुप्ता, डीपीआरओ रंजीत कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, जिला परियोजना पदाधिकारी (आईसीडीएस), जिला पंचायती राज पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्वास्थ्य के अलावा डब्ल्यूएचओ/यूनिसेफ/केयर इंडिया/सिफार के प्रतिनिधि के साथ धार्मिक संगठन , प्रेस प्रतिनिधि व विभिन्न संगठन के प्रतिनिधि ने भाग लिया।

भ्रांतियों को दूर कर शत-प्रतिशत लक्ष्य को किया जायेगा हासिल :

डीएम डॉ आदित्य प्रकाश ने कहा कि जिले में 18 से 44 वर्ष व 45 या उससे अधिक उम्र के लोगों को टीका देने का काम चल रहा है, लेकिन अभी भी टीकाकरण के प्रति समाज में तरह-तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं। भ्रांतियों को जब तक दूर नहीं किया जाएगा तब तक शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया, ग्रामीण इलाकों में टीकाकरण केंद्रों का भ्रमण करने के दौरान समझ में आता है कि टीका को लेकर अभी भी लोगों के मन में कई शंका पनपती हैं। इसलिए, सबसे जरूरी है कि ग्रामीण क्षेत्रों में फैलाई गई भ्रांतियों व अफवाहों को दूर किया जाए, जिससे टीकाकरण कार्य में तेजी आ सके। इस कार्य में धर्मगुरुओं की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। डीएम ने कहा कि धर्मगुरुओं की अपील का जनमानस पर व्यापक असर होता है, इसलिए सभी धर्म के प्रभावशाली लोग यथा, पंडित, महंत, पुजारी, मौलाना, इमाम, मौलवी, सिख गुरु आदि स्वयं आगे बढ़कर लोगो को कोविड टीकाकरण हेतु जागरूक करें और अभियान को सफल बनावे। साथ ही डीएम ने सख़्त लहजे में कहा कि तथ्यहीन,भ्रामक और गलत सूचना फैलाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई भी की जायगी।

इमारत शरिया के माध्यम से संदेश प्रसारित करवाने की दी गई सलाह

टास्क फोर्स की बैठक के दौरान मुस्लिम धर्मगुरुओं ने धार्मिक संस्थाओं यथा इमारत शरिया,जमियत- ए - उलेमा हिन्द इत्यादि के माध्यम से संदेश प्रसारित करवाने की सलाह दी, ताकि अधिक से अधिक लोग जागरूक होकर टीकाकरण के पक्ष में आ सकें।

हज पर जाने वालों के लिए टीके की दोनों खुराक आवश्यक

मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा कि हज पर जाने वालों के लिए टीके की दोनों खुराक आवश्यक है। अजान के समय मस्जिद से टीके के संबंध में माइकिंग कराने पर सकारात्मक परिणाम आ सकते हैं। इस संबंध में प्रखंड स्तर पर भी धर्मगुरुओं की बैठक कराने का उन्होंने सुझाव दिया।

अभियान को सफल बनाना हम सबकी जिम्मेदारी

एसपी कुमार आशीष ने कहा की टीकाकरण अभियान को सफल बनाना हम सबकी जिम्मेदारी तथा कार्य के लिए सिविल सोसाइटी के लोगों, वॉलिंटियर्स, डॉक्टरों एवं सरकारी कर्मियों का योगदान भी अहम् है। टीका अवश्य ले और लोगों को जागरूक कर उन्हें भी दिलवाएं। टास्क फोर्स की बैठक में कोविड वैक्सीनेशन के प्रति जागरूकता के निमित उन्मुखीकरण कार्यक्रम में डॉ अमित राव ने पावर प्वाइंट प्रस्तुति के द्वारा अबतक कोरोना वायरस से बचने हेतु किए गए कार्य,वैक्सीनेशन की प्रगति के बारे में बताया।

जिला परिषद की अध्यक्ष ने भी वैक्सीन के प्रति लोगो को जागरूक रहने तथा निश्चित रूप से टीका लेने की अपील की। सामाजिक संगठन के सामाजिक कार्यकर्ता,इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी ने अपने संगठन के द्वारा किए जा रहे जागरूकता कार्यक्रम को बताया। रेड क्रॉस सोसायटी के सचिव मिक्की साहा ने बताया कि बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर सैंपलिंग और वैक्सीनेशन के लिए कैंप मोड में जागरूकता के साथ जांच और टीकाकरण करवाया जाए तो बेहतर होगा।

संबंधित खबरें