DA Image
25 नवंबर, 2020|5:06|IST

अगली स्टोरी

एमजीएम मेडिकल कॉलेज में शुरू होगा कोरोना की जांच

default image

किशनगंज। एक संवाददाता

किशनगंज में कोरोना के बढ़ते मामले व कोरोना जांच की धीमी रफ्तार को देखते

हुए एमजीएम मेडिकल कॉलेज जनभावना को देखते हुए आगे आया है। जनसेवा के

उद्देश्य से किशनगंज एमजीएम मेडिकल कॉलेज की इस पहल से किशनगंज जिले के

लोगों को आने वाले दिनों में कोविड की जांच में आ रही कठिनाइयों से

मुक्ति मिल सकेगी यह जानकारी बुधवार को एमजीएम मेडिकल कॉलेज के निर्देशक

सह विधान पार्षद डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल ने दी।

एमजीएम मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल ने बताया कि

कोविड की जांच रिपोर्ट सीधे आईसीएमआर को जाएगी। आईसीएमआर के पास रिपोर्ट

जाने के बाद आईसीएमआर द्वारा  स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को सूचित कर

कोरोना पॉजिटिव मरीजों के बारे में जानकारी दी जाएगी। इस मशीन के लगने के

बाद आईसीएमआर किशनगंज एमजीएम मेडिकल कॉलेज को  एक आईडी पासवर्ड देगा

जिसपर एमजीएम मेडिकल कॉलेज के कोरोना रिपोर्ट की स्थिति को अपडेट किया

जाएगा।

एमजीएम मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल ने बताया कि

कोविड-19 जांच के साथ साथ स्वाइन फ्लू,टीवी,एचसीवी, एचवीबी, एचएसबी सहित

सभी प्रकार के कैंसर रोग और कई जटिल बीमारियों की जांच करने में सक्ष्म

यूएसए से आयातित थर्मोफिशर कंपनी की अपडेटेट एडवांस तकनीक वाली मशीन का

ऑर्डर किशनगंज एमजीएम मेडिकल कॉलेज ने दे दिया है। यह मशीन जल्द ही

एमजीएम मेडिकल कॉलेज को मिल जाएगी। मशीन मिलने के बाद कोविड की जांच

एमजीएम में शुरू हो जाएगी। जिससे जिलेवासियों को कोरोना के जांच के लिए

अब लंबी लंबी कतारें लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

24 घंटे में 300 सैम्पल की जांच करने की है इस मशीन की क्षमता

एमजीएम मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल ने बताया कि इस

बेहद विकसित मशीन से 24 घंटो में 300 से ज्यादा सैंपल जांच की जा सकेगी।

आईएनवी द्वारा मान्यता प्राप्त इस मशीन द्वारा 6 घंटो में अधिकतम 96

सैंपल की जांच की जा सकती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona investigation will start in MGM Medical College