ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारजिले में गैर निबंधित नर्सिंग होम पर जुर्माना सहित होगी कार्रवाई

जिले में गैर निबंधित नर्सिंग होम पर जुर्माना सहित होगी कार्रवाई

किशनगंज। एक प्रतिनिधि पूर्णिया प्रमंडल के प्रमंडलीय आयुक्त गोरखनाथ बुधवार को किशनगंज के...

जिले में गैर निबंधित नर्सिंग होम पर जुर्माना सहित होगी कार्रवाई
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,कोसीWed, 28 Sep 2022 11:51 PM
ऐप पर पढ़ें

किशनगंज। एक प्रतिनिधि

पूर्णिया प्रमंडल के प्रमंडलीय आयुक्त गोरखनाथ बुधवार को किशनगंज के एक दिवसीय दौरा पर जिला स्वास्थ्य समिति एवं सदर अस्पताल स्थित सिविल सर्जन कार्यालय का निरीक्षण किये। दोनों कार्यलय का निरीक्षण उपरांत प्रमंडलीय आयुक्त गोरखनाथ ने बताया कि इंफोर्मेटिक जांच किया गया। जांच के दौरान जिले में जितने भी स्वास्थ्य विभाग की भूमि उपलब्ध है उसका पंजी बनाने का निर्देश दिया गया तथा जिले के 44 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (एपीएचसी) में 24 एपीएचसी क्रियाशील नहीं है,उन सभी एपीएचसी को क्रियाशील करने का निर्देश दिया गया। उन्होंने बताया कि एपीएचसी में पदस्थापित स्टाफ से पीएचसी में कार्य लिया जा है वैसे सभी स्टाफ को उनका पदस्थापना वाले एपीएचसी में भेज के बंद एपीएचसी को चालू करने का निर्देश दिया गया। भवन के अभाव वाली एपीएचसी को तत्काल पंचायत सरकार भवन आदि भवनों जगह शिफ्ट कर अविलंब चालू कर ग्रामीणों को स्वास्थ्य सेवा से लाभान्वित करने का निर्देश दिया। स्वास्थ्य विभाग में एसेंसियल खरीदारी को वित्तीय प्रावधान के अनुरूप खरीदारी करने का निर्देश दिया गया।

गैर निबंधित नर्सिंग होम पर कार्रवाई का निर्देश

जिले में बहुत सारे नर्सिंग होम संचालित है। किलनिकल एक्ट 2010 के आधार पर 2013 के नियमावली बनी है उस नियमावली के अनुसार जिला पदाधिकारी रजिस्ट्रेशन का प्राधिकार के पदेन अध्यक्ष होते हैं,उन्हीं की अध्यक्षता में कमिटी के गठन किया जाता, जिले में कमिटी गठित है। लेकिन कमिटी की बैठक नहीं हो पाई है। जल्दी की कमिटी की बैठक आयोजित कर जिले में गैर निबंधित नर्सिंग होम संचालक पर जुर्माना सहित कार्रवाई का निर्देश दिया गया।

डीपीएम पर कार्रवाई के डीएम को निर्देश

जिला स्वास्थ्य समिति किशनगंज द्वारा संधारित संचिका के अवलोकन से स्पष्ट हुआ कि कोविड माहामारी में नियोजित लैब टेक्नीशियन लोगों का 30 जून के बाद सेवा विस्तार नहीं किया गया है जबकि राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार पटना द्वारा किशनगंज जिला अर्न्तगत पूर्व से निर्धारित संख्या में कार्यरत लैब टेक्नीशियन को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अर्न्तगत स्वीकृत दर पर 30 सितम्बर 2022 तक रखे जाने का निर्देश प्राप्त हुआ था। स्पष्ट है कि राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार पटना का संबंधित पत्र 30 जून 2022 को जिला स्वास्थ्य समिति किशनगंज के कार्यालय को प्राप्त हुआ है, के बावजूद 13 सितम्बर 2022 तक लैब टेक्नीशियनों का सेवा विस्तार नहीं किया गया जिससे जिला कार्यक्रम प्रबंधक के विरुद्व लगाए गए आरोप प्रमाणित पाया गया है। इस मामले में मंगलवार को ही जिला पदाधिकारी को डीपीएम पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। मौके पर मुख्य रूप से जिला पदाधिकारी श्रीकांत शास्त्री,सिविल सर्जन डॉ. कौशल किशोर प्रसाद,सदर अस्पताल डीएस डॉ. अनवर हुसैन आदि मौजूद थे

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
अगला लेख पढ़ें
epaper