DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

121 नाव व 8 बोट की कराई गई है व्यवस्था

बाढ़ की संभावना को लेकर जिला प्रशासन ने पूर्व से ही तैयारी शुरू कर दी है। पिछले वर्ष आई बाढ़ की स्थिति को लेकर प्रशासन ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया है और प्रभावित क्षेत्रों को चिह्नीत किया गया है।

इसमे पिछले वर्ष बाढ़ से प्रभावित जिन लोगों को आरटीजीएस के माध्यम से राशि दी गई थी। कई लोगों ने राशि नहीं मिलने की शिकायत की थी। अब जिला प्रशासन ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए पीएफएमएस के तहत प्रभावित लोगों को राशि देने के लिए पूर्व से ही कुछ नियम बनाये हैं। जिसके तहत ऐसे लोगों को सीधे उनके खाते में राशि स्थानांतरित की जायेगी।

बाढ़ आने की स्थिति को लेकर संबंधित अंचल के सीओ पूरी रिपोर्ट तैयार करेंगे और रिपोर्ट को संबधित विभाग के पास भेजेंगे। रिपोर्ट मिलते है वैसे लोगों को राशि मुहैया करवायी जायेगी। बाढ़ को लेकर कुल 121 नाव व 8 बोट की व्यवस्था की गई है। किशगनंज में 32 नाव, 2 बोट, कोचाधामन में 20 नाव, 1 बोट , दिघलबैंक में 13, बहादुरगंज में 8 नाव व 1 बोट, ठाकुरगंज में 26, पोठिया में 16 नाव व 1 बोट व टेढ़ागाछ में 6 नाव व 2 बोट की व्यवस्था की गई है। अनुमंडल कार्यालय में 1 बोट रहेगी। निजी नाव की संख्या बहादुरगंज में 8, दिघलबैंक में 5, ठाकुरगंज में 13, पोठिया में 2, टेढ़ागाछ में 5 नाव की व्यवस्था होगी। लाइफ जैकेट की संख्या 71 होगी, पोलेथिन सीट 1416, महाजाल की संख्या 7 होगी। प्रभावित परिवारों के पीएमएस हेतु खाता संख्या किशनगंज में 44147, कोचाधामन में 60365, बहादुरगंज में 37610, दिघलबैंक में 19954, टेढ़ागाछ में 20146, ठाकुरगंज में 34114, पोठिया में 35113 है। तटबंधो की सुरक्षा के लिए भी व्यापक इंतजाम किये गये हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:121 boat and 8 boat arrangements have been made