DA Image
24 सितम्बर, 2020|5:30|IST

अगली स्टोरी

मौत के बाद अस्पताल में किया हंगामा

मौत के बाद अस्पताल में किया हंगामा

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, बेलदौर में गुरुवार को तालाब में डूबकर हुई किशोर की मौत से गुस्साए परिजनों ने गुरुवार को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मारपीट कर जमकर हंगामा किया।

मारपीट की घटना से नाराज पीएचसी कर्मी दोषियों की गिरफ्तारी एवं सुरक्षा की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये। इससे गुरुवार की दोपहर के बाद से पीएचसी में कामकाज ठप हो गया है । हंगामा की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने प्रभारी एवं कर्मियों के साथ मारपीट करने के तीन आरोपियों को पीएचसी से गिरफ्तार कर ो में सफल रही।

जानकारी के मुताबिक डूबकर मृत राजा कुमार के परिजन एवं उसके समर्थक ग्रामीणों के द्वारा पीएचसी प्रभारी पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर मारपीट शुरू कर दी।परिजनों एवं उसके समर्थकों के द्वारा पीएचसी प्रभारी पर तत्काल ऑक्सीजन की सुविधा बालक को नहीं दिए जाने के कारण मौत हो जाने का आरोप लगाया जा रहा था। जबकि पीएचसी प्रभारी पीएचसी पहुंचने के पूर्व ही मौत हो जाने की बात कह रहे थे । पीएचसी प्रभारी के समर्थन में स्थानीय ग्रामीण भी उतर आए। मारपीट करने वाले उपद्रवियों से उलझ गए । मामला दो गांवों के मान-सम्मान की हो गइ। पनशलवा व बेलदौर के ग्रामीण आमने-सामने हो गए।

पुलिस ने तत्काल कार्रवाई कर तीन उपद्रवियों को गिरफ्तार कर मामले को शांत करने में सफल रही। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी मुकेश कुमार ने पनशलवा गांव के सत्रह नामजद आरोपी सहित दर्जनों अज्ञात लोगों के विरुद्घ मारपीट व सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने का आवेदन थानाध्यक्ष को दिया है। सूचना पर बीडीओ शशिभूषण कुमार व सीओ अमित कुमार भी पीएचसी पहुंच कर मामले को शांत करवाने में अपनी अहम भूमिका निभाई ।इधर थानाध्यक्ष राजीव कुमार लाल ने बताया कि तीन उपद्रवियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य फरार उपद्रवियों की भी शीघ्र गिरफ्तारी होगी।