क्षतिग्रस्त ट्रैक को बदलने की आवश्यकता

Last Modified: Mon, Oct 14 2019. 01:32 IST
offline

बरौनी-कटिहार रेलखंड के मानसी महेशखंूट के बीच क्षतिग्रस्त डाउन पटरी पर आखिर कब तक टे्रन दौडे़गी सवाल बना है। मानसी-महेशखंूट के बीच क्षतिग्रस्त पटरी पर टे्रनों का परिचालन अब तक शुरू नहीं किया जा सका है। जानकारी के अनुसार बरौनी-कटिहार रेलखंड के मानसी चैधा-बन्नी हॉल्ट और महेशखंूट के बीच बीते दो वर्षो में दर्जनों जगहों डाउन लाइन की पटरी क्षतिग्रस्त हो चुकी है।

लेकिन रेल विभाग द्वारा क्षतिग्रस्त पटरी में जुगल प्लेट लगाने के बाद पटरी में बेल्डिंग कराने के बाद टे्रनों का परिचालन शुरू कर दिया जाता है। क्षतिग्रस्त पटरी पर टे्रन गुजरने से कभी भी बड़ी रेल दुर्घटना हो सकती है। उल्लेखनीय है कि चैधाबन्नी हॉल्ट के पास बीते वर्ष दो-दो बार डाउन लाइन से गुजर रही राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बाल-बाल बची। उसके बाद मानसी में करीब दो सौ किलोमीटर तक नई रेल पटरी बिछाकर छोड़ दिया गया।

डाउन लाइन की क्षतिग्रस्त पटरी बदलने की मांग : पूवार्ेत्तर रेल उपभोक्ता संघर्ष समिति केकेन्द्रीय संयोजक सुभाषचंद्र जोशी ने बताया कि बरौनी-कटिहार रेलखंड के मानसी चैधा-बन्नी हॉल्ट से महेशखंूट के बीच डाउन लाइन की पटरी दर्जनों जगहों पर क्षतिग्रस्त हो चुकी है। रेल प्रशसान द्वारा क्षतिग्रस्त पटरी को बदलने के बजाय क्षतिग्रस्त पटरी में जुगल क्लैम्प लगाकर टे्रनों का परिचालन किया जा रहा है। जिसके कारण कभी भी रेल दुर्घटना हो सकती है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेल प्रशासनअविलम्ब क्षतिग्रस्त पटरी को बदले। नहीं तो आन्दोलन किया जाएगा।

हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें