DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोल बम के नारे से गूंजा परबत्ता का अगुवानी घाट


बोल बम के नारे से गूंजा परबत्ता का अगुवानी घाट

सावन माह की प्रथम सोमवारी पर देवघर में जल चढ़ाने को लेकर रविवार को गंगा घाट अगुवानी में जल भरने के लिए कावंरियों की भीड़ उमड़ पड़ी। हर-हर महादेव की जयकारे से पूरा माहौल गुंजायमान रहा। पूरा नजारा गेरुआमय था। जिले से लेकर दूसरे जिले व राज्य से आए कांवरिया नाव की सवारी कर गंगा नदी पार कर रहे थे।

वही दूसरी ओर भागलपुर जिले के बिहपुर स्थित मड़वा स्थान, बैलदौर के फूलेश्वर स्थान आदि स्थलों के शिवलिंग पर जला चढ़ाने के लिए भी यहां से जल भरने के लिए कांवरिया पहंुचे थे। गंगा नदी के विभिन्न घाटों पर भी जल भरते हैं। पर, उतर वाहिनी गंगा घाट अगुवानी का एक अलग ही महत्व है। जिले ही नहीं दूसरे जिले सहरसा, मधेपुरा, दरभंगा, मधुबनी आदि जिले के लोग जल भरने के लिए यहां आते हैं। वहीं विभिन्न जगहों से कावरियों की जत्था रवाना हुआ। कांवरियों की जयकारा से पूरा माहौल गुुंजायमान रहा। वहीं महेशखंूट से भी बड़ी संख्या में कावरियों का जत्था देवघर जलाभिषेक के लिए निकले।

महेशखूंट से जलाभिषेक के लिए कांवरिया का जत्था रवाना: शिवलिंग पर जलाभिषेक लिए महेशखूंट एवं आसपास से कांवरियों का जत्था रविवार को रवाना हुआ। महेशखंूट आसामरोड चौक पर बस, बाइक व अन्य सावारी गाड़ियों से कांवरिया का जत्था बोल बम का नारा है के साथ रवाना हुआ।

पूरी थी प्रशासनिक व्यवस्था : श्रावणी मेला पर कांवरियों के लिए कांवरिया धर्मशाला, विश्राम गृह की साफ-सफाई की गई। रोशनी की भी पर्याप्त व्यवस्था की गई है। सीओ चन्द्रशेखर प्रसाद सिंह स्वयं व्यवस्था की मॉनीटरिंग कर रहे थे। डॉ. एनपी मेहरा ने बताया कि चिकित्सकों व एएनएम की प्रतिनियुक्ति की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Leader of the Gonga Parbatta by the slogan of Bol Bam