DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाड़े की फार्मासिस्ट डिग्री पर चल रहीं दर्जनों दवा दुकानें

अनुमंडल का मुख्य बाजार जमालपुर गोगरी में भाड़े की फार्मासिस्ट डिग्री पर दर्जनों मेडिकल दुकानें खुलेआम चल रही है। लेकिन विभाग के अधिकारी इस कुव्यवस्था को नजर अंदाज किए हुए हैं।

गोगरी थाना के मुख्य जमालपुर बाजार में दर्जनों मेडिकल की दुकान चल रही है जो खुलेआम मरीजों के साथ आर्थिक शोषण कर रहा है। ऐसे दुकानों की जांच करने में विभाग के अधिकारी दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो बताते हैं कि जमालपुर में खुलेआम नकली दवाओं की भी बिक्री की जा रही है। वहीं कई बार एक्सपायरी दवा की भी बिक्री करने की शिकायत मिली है। ईिथकल दवाई की जगह मरीजों को देते है जेनरिक दवा: गंभीर बीमारी के इलाज के दौरान डॉक्टरों द्वारा मरीजांे को ईिथकल दवा अपने प्रीस्कैप्सन में लिखते हंै ,लेकिन मेडिकल दुकानदार ईिथकल की बदले उसी कम्पोजिशन का जेनरिक दवा देकर मरीजों का आर्थिक शोषण करते हैं। जेनरिक दवाई में मेडिकल संचालक को अच्छा मुनाफा होता है।

जिसके कारण वे ईिथकल दवाई की जगह जेनरिक दवाई ऊंचे दाम पर बेचते हंै। विभाग इस कुव्यवस्था को जमालपुर बाजार से दूर नहीं कर सका है। जांच के नाम पर सिर्फ कागजी खानापूर्ति की जाती है। बताया जाता है कि अगर विभागीय अधिकारी गंभीरता से जांच करे तो एक्सपायरी दवाई भी दुकान के काउंटर से प्राप्त हो सकते हैं। कई केमिस्ट को डॉक्टर का पूर्जा पढ़ने का नहीं है ज्ञान : ज्मालपुर गोगरी बाजार में दर्जनो मेडिकल दुकान संचालित हैं लेकिन अधिकांश मेडिकल दुकान भाड़े पर फर्मासिस्ट की ड्रिग्री लेकर दुकान चला रहे हैं। अगर गंभीरता से जांच हो तो शायद ही किसी काउंटर पर फर्मासिस्ट डिग्रीधारी मिलेंगे। सीएस ने जल्द अभियान चलाकर कार्रवाई की बात कही

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dozens of drug shops going on the mercantile pharmacist degree