There will be many challenges before the new DRM - नये डीआरएम के समक्ष होंगी कई चुनौतियां DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नये डीआरएम के समक्ष होंगी कई चुनौतियां

कटिहार रेल मंडल के नये डीआरएम सुमित कुमार को कई प्रकार की चुनौतियों से जूझना होगा। रेलवे कर्मचारियों के समस्याओं के अलावा रेलवे कॉलोनियों में व्याप्त समस्याएं भी गंभीर हैं।

हालांकि, नये डीआरएम ने अभी तक पदभार ग्रहण नहीं किया है लेकिन नये मंडल प्रबंधक से रेलवे कर्मचारियों को अभी से उम्मीद जगने लगी है। मालूम हो कि इस रेल मंडल स्थित अधिकारियों और कर्मचारियों का आवासीय कॉलोनी है। अधिकारियों व द्वितीयस्तर के पदाधिकारियों के लिए साहेब पाड़ा है। वहीं तृतीय व चतुर्थ व लिपिक व रेलवे कर्मचारियों के लिए ओटी पाड़ा, रेलवे न्यू कॉलोनी, ड्राइवर टोला, गिरजा कालोनी, इमरजेंसी कालोनी, लंगड़ा बगान, ग्रिन सोप पाड़ा, संतोषी कॉलोनी, गार्ड पाड़ा स्थित में रेलवे कॉलोनी है। साहेब पाड़ा में साहेब लोगों के लिए कार्यालय से घर तक की सड़कें चकाचक है। वहंी अन्य कॉलोनियों की सड़कें काफी जर्जर है। कर्मचारियों की मानें तो उनके कॉलोनियों में पिछले 10 से 12 साल में सड़कों की मरम्मत नहीं की गयी है।

इन समस्याओं से करना पड़ेगा मुकाबला

रेलवे क्वार्टर को सही हालत में लाना, गुणवत्ता को ताक पर रखकर रेलवे आवास के निर्माण कार्य की जांच, रेलवे प्लेटफार्म व जंक्शन के आसापास सौंदर्यीकरण में राशि का दुरुपयोग की जांच भी डीआरएम के लिए कम चुनौतीपूर्ण नहीं होगा। रेलवे इंप्लाइज और मजदूर यूनियनों की वर्षों से लंबित मंाग एवं रेलवे अस्पताल में डॉक्टरों और पारामेडिकल स्टाफ की कमी चुनौती भरा होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:There will be many challenges before the new DRM