DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क पर जलजमाव से वार्ड के लोगों में आक्रोश

सड़क पर जलजमाव से वार्ड के लोगों में आक्रोश

शहर के वार्ड संख्या-43 स्थित डेहरिया नया टोला में पिछले दो माह से सड़क पर नाले का पानी के जमाव से लोगों को परेशानी हो रही है। लोगों द्वारा इसकी शिकायत कई बार निगम के अधिकारियों से की गयी बावजूद स्थिति जस की तस बनी हुई है।

वार्ड के लोगों के मनमानी के कारण सड़क पर पिछले दो माह से नाला का पानी जमा है। साफ सफाई के अभाव या निकासी की समुचित साधन नहीं होने से नाले का गंदा जल से दुर्गंध आने लगी है। जिस कारण वार्ड के लोगों को घर से निकलने में परेशानी हो रही है। खासकर बच्चों को स्कूल ले जाने और लाने में उनके परिजनों को भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है।इस दौरान बच्चों को गोद में उठाकर जलजमाव के बाद बच्चों को जूता व स्कूल ड्रेस पहनाने की मजबूरी बनी हुई है। जल जमाव के कारण बाइक चालकों को अपनी अपनी वाहन सड़कों के किनारे या फिर किसी दुकान में रखना विवशता बनी रहती है। इससे वाहन चालकों में चोरी का भय सताता रहता है। उन्होंने निगम प्रशासन को इस समस्या का निदान करने की जरूरत है । जनरल फिजिशियन डा. संतोष प्रकाश का कहना है कि ज्यादा दिनों तक नाला का पानी सड़क पर जमा रहने से उसके आसपास रहने वाले लोगों को बीमारु बना देता है। लोगों में संक्रमण रोग होने का खतरा बढ़ जाता है। बैक्टीरिया,जीवाणु, रोगाणु उत्पन्न होने लगते है। इससे मच्छड़ भी पनपने लगता है। मलेरिया, टायफाईड, सर्दी खांसी के साथ-साथ डायरिया जैसे रोग होने की आशंका बनी रहती है।

इस बावत नगर निगम के मेयर विजय सिंह ने कहा कि सड़क पर जमा गंदे पानी को हटाने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। पम्प सेट के सहारे सड़कों से जलजमाव हटाया जाता है लेकिन यह स्थायी निदान नहीं है। योजना बनाकर स्थायी प्रयास किया जायेगा।

वहीं दूसरी तरफ वार्ड संख्या 43 के पार्षद बबीता देवी ने बताया कि

जलजमाव की समस्या के निदान के लिए कई बार निगम को कहा गया है। कई जनप्रतिनिधियों को भी बताया है। जल निकासी की सुविधा नहीं रहने तथा दूसरे वार्ड में नाला बंद कर देने के कारण समस्या स्थाई हो गई हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The rage in the wards of the people on the road