Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार कटिहारमनसाही पीएचसी प्रभारी को शोकॉज

मनसाही पीएचसी प्रभारी को शोकॉज

हिन्दुस्तान टीम,कटिहारNewswrap
Sun, 05 Dec 2021 03:51 AM
मनसाही पीएचसी प्रभारी को शोकॉज

कटिहार | निज प्रतिनिधि

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी मनसाही डॉ मनोज कुमार चौधरी से उच्चाधिकारी के आदेश की अवहेलना एवं अधिकार क्षेत्र से परे कार्य करने को ले डीएम उदयन मिश्रा ने स्पष्टीकरण मांगा है। इसके लिए तीन दिसम्बर को जारी पत्र के माध्यम से सिविल सर्जन कटिहार के 1 दिसम्बर 21 को जारी पत्र के आलोक में क्षेत्रीय निदेशक ,स्वास्थ्य सेवायें पूर्णिया के आदेश पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्राणपुर का अतिरिक्त वित्तीय प्रभार नही सौंपने के बाद डॉ अभिनंदन कुमार को एकतरफा वित्तीय प्रभार ग्रहण करने का आदेश सिविल सर्जन द्वारा दिया गया। यह कृत्य उच्चाधिकारी के आदेश की अवहेलना को दर्शाता है।

कार्य एवं आदेश की अवहेलना के लिए दंत चिकित्सक पीएचसी मनसाही डॉ अर्चना कुमारी से 30 नवम्बर 21 को स्पष्टीकरण की मांग की गयी स्पष्टीकरण का जवाब संतोषजनक नहीं मिलने तक उनका वेतन स्थगित कर दिया गया। वेतन स्थगन का आदेश पीएचसी प्रभारी के क्षेत्र से परे हैं। बिहार वित्तीय नियमावली एवं कोषागार संहिता के अनुसार कोषागार पदाधिकारी समाहर्ता के प्रति उत्तरदायी होते हैं। इस स्थिति में किसी के वेतन निकासी स्थगन सम्बंधी जिला पदाधिकारी के आदेश पर अमल करने के लिए कोषागार पदाधिकारी उत्तरदायी है न कि किसी अन्य पदाधिकारी का। किसी अधीनस्थ कर्मी/पदाधिकारी द्वारा कार्य अथवा आदेश के अवहेलना की जाती है तो विहित प्रक्रिया के तहत आरोप पत्र गठन कर नियमानुसार कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारी को प्रतिवेदित किया जाना अपेक्षित न कि स्वयं के स्तर से वेतनस्थगन। क्षेत्रीय निदेशक स्वास्थ्य सेवायें, पूर्णिया के आदेश एवं सिविल सर्जन के निर्देश के बावजजूद सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्राणपुर का वित्तीय प्रभार किस परिस्थति में आपके द्वारा नहीं सौंपा गया, कार्य आदेश की अवहेलना के लिए कथित दोषी चिकित्सक के विरुद्ध कार्रवाई के लिए आरोप पत्र का गठन कर कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारी को अनुशंसा किस परिस्थति में आपके द्वारा नहीं भेजा गया।

epaper

संबंधित खबरें