DA Image
30 नवंबर, 2020|7:25|IST

अगली स्टोरी

राहत: पहले दिन बहुत कम बसें चलीं

default image

जिले में मंगलावार से सरकारी एवं निजी बसों का परिचालन शुरू किये जाने के बाद आम यात्रियों को राहत मिली है। इससे पूर्व जिला मुख्यालय आने तथा शहर से बाहर जाने के लिए ऑटो चालकों के रहमोकरम पर निर्भर रहना पड़ता था।

इतना ही नहीं ढाई गुणा से अधिक भाड़ा दिये जाने के क्षमता से अधिक यात्रियों को लादकर एक जगह से दूसरे जगह तक ले जाया जा रहा था। सनद रहे कि राज्य सरकार के क्राइसिस मैनेजमेन्ट ग्रुप की बैठक के बाद परिवहन विभाग ने सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को जारी करने का निर्देश दिया है। इस बाबत जिलाधिकारी कंवल तनुज ने भी जिले में निजी व सरकारी बसों का परिचालन करने का निर्देश जिला परिवहन पदाधिकारी मो. अतहर को दिया है। जिसके तहत बसों का परिचालन कोविड-19 के प्रावधानों के आलोक में किया गया। मंगलवार को जिला मुख्यालय से भागलपुर एवं फलका के अलावा पूर्णिया के लिए डेढ़ दर्जन बसों का परिचालन शुरू होने के कारण आम यात्रियों ने राहत की सांस ली है। नियम लागू होने के पहले दिन बहुत कम संख्या में बसें चलीं। इसका मुख्य कारण बताते हुए निजी बस परिवहन एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष टुनटुन राय ने बताया कि सोमवार की देर रात जानकारी मिली है। साथ ही बसों का चालक एवं संवाहक तथा खलासी के छुट्टी में रहने के कारण सभी बसों का परिचालन संभव नहीं हो सका। उन्होंने बताया कि बुधवार के बाद जिला के अन्दर व अन्तर जिला के लिए सभी प्रकार की बसें नियमित रूप से चलने लगेंगी। इससे आम यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। क्योंकि पहले ऑटो औ र ई-रिक्शा ही सहारा था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Relief very few buses left on day one