DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  कटिहार  ›  नगर निगम : कार्यकाल समाप्त होते ही विकास कार्य हो जाएगा ठप
कटिहार

नगर निगम : कार्यकाल समाप्त होते ही विकास कार्य हो जाएगा ठप

हिन्दुस्तान टीम,कटिहारPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 04:40 AM
नगर निगम : कार्यकाल समाप्त होते ही विकास कार्य हो जाएगा ठप

कटिहार | एक संवाददाता

नगर निगम के के मेयर सहित वार्ड पार्षदों का कार्यकाल 27 जून को समाप्त होने वाला है। इसके साथ ही नगर निगम के गठित बोर्ड का कार्यकाल भी समाप्त हो जाएगा। इसके बाद नगर निगम के 45 वार्डों के किसी मोहल्ला व टोला से संबंधित किसी भी प्रकार का नीतिगत फैसला नहीं हो सकेगा। साथ ही किसी प्रकार के संसाधानों की खरीद भी नहीं हो पाएगी। इससे मानसून के समय निगम की ओर से की जाने वाली जलजमाव के खिलाफ होने वाला समुचित कार्रवाई होने में परेशानी होने की संभावना प्रबल हो गई है।

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अभी तक नगर निगम के चुनावी बिगुल नहीं बजाने से निगम के पार्षदों में ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। हालांकि मेयर शिवराज पासवान के नेतृत्व में वार्ड पार्षदों द्वारा नगर निगम के गठित बोर्ड का कार्यकाल बढ़ाने के लिए बिहार के डिप्टी सीएम सह नगर विकास सह आवास मंत्री तारकिशोर प्रसाद से मिलकर ज्ञापन दिया है। दिए गए ज्ञापन में बताया गया है कि 27 जून 2016 को निगम के गठित बोर्ड का कार्यकाल 27 जून 2021 को समाप्त हो रहा है। इससे विकास कार्य अवरूद्ध हो जाएगा। इस पर ध्यान देते हुए नगर पालिका अधिनियम की धारा 441 और 442 में प्रदत्त प्रावधान के तहत विशेष परिस्थिति में गठित कार्यक्रम को राज्य सरकार द्वारा अवधि का विस्तार किया जा जा सकता है। कोविड 19 जैसे महामारी एवं नगर निगम में चल रहे महत्वकांक्षी योजनाओं के विकास कार्य को देखते हुए गठित बोर्ड के कार्यकाल का अवधि विस्तार करने की गुहार लगाई गई है। हालांकि इस संदर्भ में अभी तक राज्य सरकार की ओर से किसी प्रकार सहमति या असहमति नहीं जताया गया है। लेकिन जैसे-जैसे 27जून का समय नजदीक आ रहा है। वैसे-वैसे नगर निगम के मेयर, उप मेयर और अन्य वार्ड पार्षदों में ऊहापोह की स्थिति बनती जा रही है।

संबंधित खबरें