DA Image
1 अगस्त, 2020|4:47|IST

अगली स्टोरी

2 हजार से अधिक की आबादी को हो रही है परेशानी

default image

नगर निगम का वार्ड संख्या छह कहने का तो शहर का अंग है लेकिन ग्राम पंचायत की सुविधा भी मयस्सर तक नहीं है।

जिसके कारण शहर के संथाली टोला में रहनेवाले नागरिकों को आधुनिक आधारभूत सुविधा से वंचित रहना पड़ता है। लगभग दो हजार की आबादी वाले इस मुहल्ले के लोगों की व्यथा न निगम के प्रशासक सुनते हैं और न ही वार्ड आयुक्त द्वारा अभी तक इस समस्या का समाधान निकाला गया है। फलस्वरुप इस वार्ड में रहनेवाले नागरिकों को बारिश के मौसम में जलाशय बने सड़क के गंदे पानी होकर गुजरने की विवशता बनी रहती है। इतना ही इस वार्ड के महिलाओं तथा स्कूली बच्चों को पीड़ा के बीच अपनी जिन्दगी का सफर तय करना पड़ता है। वार्ड के लोगों का कहना है कि इस मुहल्ले में विगत छह एवं सात वर्षों से न तो सड़क का निर्माण किया गया है और न ही जल निकासी के लिए नाला ही बनाया गया है। जिसके कारण हल्की बारिश होने पर घुटने भर पानी होकर गुजरने की विवशता बनी रहती है।

नागरिकों ने समस्या से कराया अवगत

शुक्रवार को जब इस वार्ड का जायजा लिया गया तो वार्ड संख्या 6 के अवधेश मिश्र, आमोद झा, सुशील कुमार साह, रामचन्द्र ठाकुर, चित्तरंजन कुमार, सुलोचना देवी, शैल देवी, राजो देवी, सीमा देवी, पिंकी देवी, रुपा देवी एवं गुड़िया ने बताया कि समस्या का समाधान करने के लिए नगर आयुक्त से लेकर मेयर तथा डिप्टी मेयर के यहां दर्जनों बार गुहार लगाया जा चुका है। बावजूद समस्या जस का तस बनी हुई है। इतना ही नहीं मुहल्ले के लोगों ने बताया कि निगम द्वारा निर्धारित सभी प्रकार के टैक्स चुकाए जाते हैं लेकिन सुविधा के नाम पर सड़क पर बने जलाशय से होकर साल में चार माह गुजरने की विवशता को उनलोगों ने अपनी नीयति मान लिया है। जबकि उक्त वार्ड के आयुक्त के बारे में बताया गया कि उनके द्वारा सिर्फ अश्वासन ही मिलता है।

कहते हैं वार्ड आयुक्त

वार्ड आयुक्त कृष्णा सिंह ने बताया कि सड़क निर्माण नाला निर्माण के लिए कई बार निगम के स्थायी समिति एवं सामान्य परिषद की बैठक में रखा गया है। बावजूद निर्माण नहीं होना दुखद है। उन्होंने बताया कि बरसात के बाद सड़क निर्माण के लिए नगर आयुक्त से बात की जायेगी ताकि समस्या का समाधान हो सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:More than 2 thousand population is facing problems