DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाबालिग को पोल से बांधकर बेल्ट से पीटा

मोबाइल चोरी करने के आरोप में नाबालिग को बिजली पोल में बांधकर बेल्ट से जमकर पीटा। सोमवार को शहर के एक छात्रावास में नाबालिग की पिटायी की गयी। बच्चों की रोने की आवाज व दर्दनाक स्थिति देखकर छात्रावास में रह रहे एक युवक ने मारपीट करते हुए नाबालिग का वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

वीडियो वायरल होते हुए पुलिस हरकत में आ गयी। इसके बाद पीड़ित नाबालिग बालक के पिता के बयान पर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एसडीपीओ अनिल कुमार ने बताया कि इस मामले में बरारी थाना क्षेत्र के सेमापुर बड़ी गिदरबाड़ी निवासी मजरूल हक के पुत्र मो मुजम्मल तथा रौतारा थाना क्षेत्र के हथियादियारा निवासी गुलजार हुसैन को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। एसडीपीओ ने बताया कि बालक के पिता का आरोप है कि उसका पुत्र अपने घर से बाहर गया था। दोपहर बाद तक घर नहीं लौटने पर वह उसे खोजबीन करने लगा। इस बीच पता चला कि शरीफगंज में एक छात्रावास में लोगों द्वारा उसके पुत्र को बिजली के खंभे में रस्सी से बांधकर उसे मारा-पीटा जा रहा है।

इसकी सूचना पर जब वह संबंधित छात्रावास पहुंचा तो देखा किउसका पुत्र पीलर में बंधा हुआ है और कुछ लोग उसे बेल्ट एवं छड़ी से मारपीट कर रहा था। जब वह पुत्र के साथ मारपीट करने व उसके दोष के बारे में पूछताछ किया तो आरोपियों ने उसके साथ भी हाथापाई की। वह डर से वहां से भाग कर घटना की जानकारी मोहल्ले के लोगों को दिया। मोहल्ले के लोगों के सहयोग से पुत्र को बचाया।

सजा के प्रावधान : अपर लोक अभियोजक राजेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि नाबालिग के साथ मारपीट में धारा 342, 323 लगाया गया है जो जमानतीय दफा है। मारपीट में जख्मी होने पर उसकी जान सकती है तो 307 की धारा लगाया जा सकता है। पुलिस ने 382 की धारा लगायी है जो गैर जमानतीय धारा है। इस धारा के तहत 10 साल की सजा हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Minor pole tied with belt