ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार कटिहारसंस्थागत प्रसव करने में मनसाही अव्वल कटिहार सबसे पीछे

संस्थागत प्रसव करने में मनसाही अव्वल कटिहार सबसे पीछे

संस्थागत प्रसव करने में मनसाही अव्वल कटिहार सबसे पीछे संस्थागत प्रसव करने में मनसाही अव्वल कटिहार सबसे पीछेसंस्थागत प्रसव करने में मनसाही अव्वल...

संस्थागत प्रसव करने में मनसाही अव्वल कटिहार सबसे पीछे
हिन्दुस्तान टीम,कटिहारWed, 29 May 2024 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

कटिहार, एक संवाददाता
लाख प्रयास के बाद संस्थागत प्रसव का लक्ष्य पूरा करने में कुछेक प्रखंड छोड़कर अधिकांश प्रखंड की स्थिति सही नहीं है। साथ जितना प्रसव कराया जाता है। उस संख्याओं को भी यू-विन पोर्टल पर अपलोड नहीं किया जाता है। जिला स्वास्थ्य समिति की रिपोर्ट की माने तो संस्थागत प्रसव कराने के लिए अपने लक्ष्य का सबसे अधिक मनसाही प्रखंड संस्थागत प्रसव कराया और सबसे कम कटिहार प्रखंड में करया गया। रिपोर्ट के अनुसार मनसाही प्रखंड ने लक्ष्य 223 के बदले 231 यानि104 प्रतिशत संस्थागत प्रसव कराया है। वहीं कटिहार प्रखंड ने अपने लक्ष्य 924 का 9 प्रतिशत यानि मात्र 87 प्रसूताओं का संस्थागत प्रसव कराया है।

इन प्रखंडो में 50 प्रतिशत भी नहीं हो पाया लक्ष्य पूरा

रिपोर्ट के अनुसार जिले के आजमनगर, मनिहारी, कोढ़ा, बलरामपुर, डंडखोरा, कदवा, प्राणपुर प्रखंडों में लक्ष्य का 50 प्रतिशत भी संस्थागत प्रसव नहीं हो पाया है। साथ ही यू विन पोर्टल पर अपलोड नहीं किया गया। रिपोर्ट के अनुसार आजमनगर में 837 का 48प्रतिशत, मनिहारी में लक्ष्य 437 का 45प्रतिशत, कोढ़ा में लक्ष्य 750 का 40, बलरामपुर में लक्ष्य 421 का 30, डंडखोरा में लक्ष्य 180 का 52, कदवा में लक्ष्य 920 का 25 , प्राणपुर में लक्ष्य 382 का 21 प्रतिशत ही संस्थागत प्रसव का डाटा अपलोड कराया कराया गया।

इन प्रखडों में 50 व इससे अधिक प्रतिशत पूरा किया लक्ष्य

जिला स्वास्थ्य समिति के एक रिपोर्ट के अनुसार संस्थागत प्रसव का डाटा अपलोड करने में 8 प्रखंड का कार्य कमोवेश संतोषप्रद यानि 50 या इससे अधिक प्रतिशत रहा है। समेली और हसनगंज में 50 प्रतिशत, बारसोई में 52 प्रतिशत, अमदाबाद में 59, बरारी प्रखंड में 61, फलका में 66, कुरसेला प्रखंड में 70 प्रतिशत संस्थगत प्रसव कराया गया है।

वर्जन

लक्ष्य से 50 प्रतिशत डाटा को यू-विन पोर्टल पर अपलोड नहीं करने वाले प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को अल्टीमेटम दिया गया है। अगले माह तक लक्ष्य पूरा नहीं किया तो संबंधित प्रभारी, बीचएम और डाटा ऑपरेटर के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

डॉ. जितेंद्र नाथ सिंह, सिविल सर्जन कटिहार।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।