ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार कटिहारभोले बाबा को जलाभिषेक को गंगा तट पहुंचे कांवरिये

भोले बाबा को जलाभिषेक को गंगा तट पहुंचे कांवरिये

कटिहार, हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। सावन की तीसरी सोमवारी पर बाबा गोरखनाथ का जलाभिषेक करने के...

भोले बाबा को जलाभिषेक को गंगा तट पहुंचे कांवरिये
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,कटिहारMon, 01 Aug 2022 12:42 AM
ऐप पर पढ़ें

कटिहार, हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। सावन की तीसरी सोमवारी पर बाबा गोरखनाथ का जलाभिषेक करने के लिए रविवार को ही कांवरिये शहर में प्रवेश करने लगे। मनिहारी गंगा तट से बाबा नगरी तक पूरा कांवरिया पथ केसरिया हो चुका है। कटिहार -आजमनगर मार्ग बोलबम के जयकारे से गूंज रहा है। रास्ते में रविवार शाम 6 बजे कांवरियों की काफी भीड़ थी। इनकी संख्या देर रात तक और बढने की संभावना है।़ सनद रहे कि जिले के गोरखनाथ धाम के अलावा हसनगंज के भारीडीह एवं कोढ़ा प्रखंड के पवई मकदमपुर के आपरुपी शिव मंदिर में सबसे अधिक श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है।

रविवार को जिले के प्रमुख गंगा घाटों से लेकर बाबा के मंदिर तक जानेवाले मार्ग बोल बम के नारों से गूंजायमान हो उठा। गोरखनाथ मंदिर के प्रधान पुजारी ने बताया कि जिस तरह से कांवरियों का जत्था आना शुरू हुआ है, उसे देखते हुए तीसरी सोमवारी पर करीब एक लाख भक्तों के आने का अनुमान है। रविवार रात 9 बजे से निरंतर अरघा से जलाभिषेक की व्यवस्था रहेगी। सोमवार को दोपहर बाद भीड़ कम हुई तो भक्तों को गर्भगृह में जाकर जलाभिषेक की अनुमति मिलेगी। रविवार को करीब 25 फीसदी डाक बम बाबा के दर्शन करने के बाद ही जल उठाने मनिहारी जाते हैं। इसलिए रविवार को दिन में गर्भगृह में जलाभिषेक की अनुमति रहेगी।

तीसरी सोमवारी पर बाबा भोलेनाथ के शिवलिंग पर जलाभिषेक करने के लिए मनिहारी एवं नवाबगंज के अलावा शहर के सार्वजनिक दुर्गास्थान चौक के समीप मंदिर परिसर में बड़ी संख्या में सेवा समिति के सदस्य कैम्प लगाकर कांवरियों को नींबू पानी एवं चाय व शर्बत उपलब्ध कराते हैं।

पूजन सामग्रियों से पटा रहेगा मंदिर के आसपास का इलाका: शिवभक्तों को जलाभिषेक में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो इसके लिए मंदिर परिसर के आसपास पूजन साम्रियों में गंगा जल, बेलपत्र एवं शिव को अर्पित किये जानेवाले फूल उपलब्ध कराया जाता है।

सार्वजनिक दुर्गा मंदिर के एक कैंप में झूम रही किशोरी बम ने बताया कि उन लोगों ने रविवार की अहले सुबह 10 बजे मनिहारी से जल उठाया था और दोहपर दो बजे वे लोग कटिहार शहर पहुंच चुके थे। बताया कि मौसम अच्छा रहने और बीच-बीच में बारिश होने की वजह से इस सोमवारी कांवरियों को चलने में कम परेशानी हो रही है।

epaper