Kabir jubilee celebrated in Bhargama - भरगामा में कबीर जयंती मनायी गयी DA Image
12 दिसंबर, 2019|1:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भरगामा में कबीर जयंती मनायी गयी

भरगामा पेट्रोल पंप के निकट महात्मा भुवनेश्वर साहब के सानिध्य वह उनके आश्रम प्रांगण में 15वीं शताब्दी के महान संत मानवीय विचारधारा के उन्नायक कबीर साहेब की जयंती पूरे उत्साह के साथ समारोह पूर्वक मनाई गई।

उक्त अवसर पर पहले ग्रामीणों द्वारा प्रभात फेरी निकाली गई इसके बाद संत कबीर के तैल चित्र पर फूल मालाएं अर्पित कर उन्हें नमन किया गया। मौके पर संत वाणी का पाठ किया गया और कई संतों का प्रवचन कबीर के जीवन-दर्शन पर हुए। संत भुवनेश्वर ने कहा कि संत कबीर का विचार अंध परंपरा, जातपात, छुआछूत के खिलाफ वैज्ञानिक सोच पर आधारित संपूर्ण समाज के लिए कल्याणकारी है।

सदानंद दास ने अपने प्रवचन में कहा कि संत कबीर कर्म वादी थे और अपनी अमर वाणी में उन्होंने कर्म व पुरुषार्थ का वर्णन किया है। वह खुद इतने मेहनती थे कि एक कुशल बुनकर की तरह चादर बीन-बीन कर बाजार में बेचकर गुजारा करते थे।

मौके पर आश्रम के व्यवस्थापक बेचन शर्मा, उपेंद्र शर्मा और अनिल शर्मा ने भव्य भंडारा का भी आयोजन किया था। सत्संग के प्रारंभ में महंत राम स्वरूप साहब के हाथों समारोह स्थल पर ध्वजारोहण किया गया और देव स्वरूप दास, सचिव भुवनेश्वर यादव, आनंदी दास, महेंद्र दास भवानंद शर्मा, अग्रवाल दास, जीवन शर्मा के अलावा दिलीप शर्मा, विलास दास, सुमन ठाकुर आदि ने अपने विचार रखें और समारोह में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kabir jubilee celebrated in Bhargama