DA Image
26 अक्तूबर, 2020|3:48|IST

अगली स्टोरी

उच्च विद्यालय का मुख्य द्वार जर्जर, हादसे का डर

default image

19 वर्ष पूर्व प्लस टू उच्च विद्यालय में निर्मित मुख्य द्वार जर्जर है। प्रबंधन के इस ओर ध्यान नहीं दिये जाने से पठन पाठन करनेवाले लगभग सात सौ छात्र छात्राओं के बीच अनहोनी की आशंका बनी हुई है। अभाविप के बलरामपुर इकाई के संयोजक विनोद कुमार ने दर्जनों कार्यकर्ताओं से मिलकर प्रबंधन से इसकी शिकायत की है।

1961 में उच्च विद्यालय का निर्माण कराया गया था। उसके बाद 2011 में अपग्रेड का इसे प्लस टू उच्च विद्यालय किया गया। जिससे की छात्र छात्राओं को इसका लाभ मिल सके। अभाविप इकाई बलरामपुर के संयोजक कुमार ने बताया कि प्लस टू में दो संकाय की यहां पठन पाठन होती है। कला संकाय में 167,एवं विज्ञान संकाय में 120 छात्र छात्राओं का नामांकन है जबकि हाईस्कूल मिलाकर कुल 700 छात्र छात्राएं नामांकित हैं। वषोंर् बीतने के बाद आमने सामने बने मुख्य द्वार जर्जर होने से छात्रों के बीच अनहोनी की आशंका बनी रहती है। बलरामपुर इकाई अभाविप के विनोद कुमार व दर्जनों कार्यकर्ताओं ने इसे शीघ्र मरम्मत की मांग की है। इस बावत महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो पवन कुमार ने बताया कि महाविद्यालय का दो मुख्य द्वारा आमने सामने निर्मित है। मुख्यद्वार जर्जर होने से गिरते टुकड़े से पूर्व में शिक्षक बाल बाल बच गये थे। मरम्मती के लिए विभाग को लिखित भेजा जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:High school 39 s main gate is dilapidated fear of accident